?> तहसील मे आज भी लम्बित 222 आवेदन पत्र - डीएम नाराज बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ जिलाधिकारी मन्नान अख्तर ने कलेक्ट्रेट सभागार मे समा"/>

तहसील मे आज भी लम्बित 222 आवेदन पत्र - डीएम नाराज

जिलाधिकारी मन्नान अख्तर ने कलेक्ट्रेट सभागार मे समाज कल्याण, अल्पसंख्यक विकलांग कल्याण व बाल विकास आदि विभागो की समीक्षा के दौरान अधिकारियो से कहा कि शासन द्वारा जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के अन्तिम छोर तक के व्यक्ति को दिया जाए। समाज कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान जिला समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि परिवारिक लाभ योजना के आवेदन पत्र 222 लम्बित तहसील स्तर पर है। जिनका निस्तारण तहसीलदार व एसडीएम द्वारा नही किया गया है।

डीएम को बताया कि आश्रम पद्धति विद्यालय दरियापुर कुण्डौरा मे बना है। जिसमे पिछले वर्ष 165 बच्चो का नाम पंजीकृत थे। जिसपर डीएम ने कहा कि आश्रम पद्धति विद्यालयों की शिक्षा नवोदय विद्यालयों की भांति दिलाने के निर्देश शासन द्वारा दिए गये। जिसका अनुपालन विद्यालय के अध्यापको द्वारा किया जाये। डीएम ने वार्डेन व अध्यापको की जानकारी करने पर बताया कि आठ अध्यापक है वार्डेन नही  है। जिस पर वार्डेन की नियुक्ति हेतु शासन को पत्र लिखने के निर्देश दिये है। डीएम ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए विद्यालय के बच्चो को पौष्टिक भोजन व शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाए। समाज सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओ का लाभ समाज के अन्तिम छोर पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित किया जाए।

अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने डीएम को बताया कि एक शासकीय मदरसा मौदहा पर चल रहा है। प्राइवेट मदरसो की जानकारी करते हुये डीएम ने कहा कि गैर सरकारी मदरसो की जांच कराये कि अध्यापको द्वारा बच्चो को सही शिक्षा दी जा रही है। दिव्यांग कल्याण विभाग की समीक्षा करते हुये डीएम ने कहा कि दिव्यांगो को मिलने वाले पेशन व उपकरण आदि समय से उपलब्ध कराये जाए। जिन दिव्यागोें के पेशन के आवेदन पत्र लम्बित हो उनको शासन को भेजना सुनिश्चित करे। बाल कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान प्र0कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि शासन द्वारा प्राप्त पुष्टाहार का विवरण किया जा चुका है। अति कुपोषित बच्चो की जांच हेतु चिकित्सकों तथा आंगनवाडी केद्रो मे आशा बहुओं द्वारा सहयोग नही किया जा रहा है। डीएम ने सीएमओ को निर्देश दिये है कि बच्चों का वजन तौल व आयरन की गोली वितरण समय से कराये।

आंगनवाडी केन्द्रो के निर्माण काी समीक्षा करते हुये डीएम ने कहा कि निर्माण कार्य मे गुणवत्ता सुनिश्चित कराये। सीडीओ अवधेश बहादुर सिंह ने कहा कि राज्य पोषण मिशन के तहत दस ग्रामो का चयन किया गया है। जिससे उन ग्रामो का ओडीएफ बनाना है उन्होने समस्त सीडीपीओ को निर्देश दिये कि ओडीएफ हेतु चयनित ग्रामो मे जाकर सत्यापन करे। बैठक मे जिला अल्पसंख्यक अधिकारी कृष्ण मुरारी जिला समाज कल्याण अध्कारी रचना शर्मा जिला कार्यक्रम अधिकारी पीडी विश्वकर्मा समस्त सीडीपीओ आदि उपस्थित रहे।