देशी शराब दुकान संचालक ने फोन पर पत्रकार को जान से मारने की दी धमकी

ललितपुर,
 
धमकी देने पर मड़ावरा थाने में दर्ज हुआ मुकदमा
बंदी के बाद भी देशी शराब बेचने की खबर का मामला
 
मड़ावरा कस्बे सहित गांव-गांव में अबैध रूप से बिक रही देशी शराब से गाँवो में माहौल बिगड़ता जा रहा है। मड़ावरा कस्बे में अबैध रूप से देशी शराब की बिक्री आमबात हो गई है। इसे सिस्टम की खराबी ही कहेंगे कि जानकारी होने के बाद भी कार्यवाही नहीं की जाती है।
 
मामला 22 मार्च का है शासन के निर्देशानुसार जिलाधिकारी ललितपुर द्वारा सख्ती के साथ निर्देश दिये गए थे कि 22 मार्च को शराब की दुकानें पूर्णतया बन्द रहेँगी। जिलाधिकारी के निर्देश के बावजूद मड़ावरा कस्बे में बस स्टेण्ड के पास देशी शराब बेंची गई। जिलाधिकारी के निर्देश के बावजूद बेंची जा रही देशी शराब की खबर जब मड़ावरा निवासी पत्रकार मु० जाकिर मंसूरी पुत्र मुजीम खान ने चलाई तो देशी शराब दुकान संचालक राजू चन्देल पुत्र केहर सिंह चन्देल, निवासी किसरदा ने 22 मार्च को रात्रि में करीब 8:44 पर पत्रकार को फोन कर घर से उठाकर जान से मारने की धमकी दी।
 

इतना ही नहीं उसने धमकी देते हुए कहा कि ललितपुर के लिये किसरदा से ही जाओगे, तुम्हे देख लेंगें।  पत्रकारों ने इंस्पेक्टर मड़ावरा को सम्पूर्ण मामले से अवगत कराते हुए ज्ञापन देकर देशी शराब दुकान संचालक की दुकान निरस्त करने तथा सख्त कार्यवाही की मांग की है। 
इस दौरान पत्रकार विजय सिंह सेंगर, कृष्ण कुमार, शिवकुमार त्रिपाठी, राहुल श्रोती, प्रदीप सिंह, जाकिर मंसूरी, राकेश वैद्य, सन्दीप मिश्रा, माखन कुशवाहा, इन्द्रपाल सिंह, सतीश नायक, सुरेश मास्टर, प्रकाश राय, अभय प्रताप सिंह, प्रकाश सिंह लोधी, छोटू राय आदि उपस्थित रहे। 
 
पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा
 
जनता कर्फ्यू में बंदी के जिलाधिकारी सख्त निर्देश के बावजूद बेंची जा रही देशी शराब की खबर चलाने पर दुकान संचालक राजू चन्देल पुत्र केहर सिंह चन्देल, निवासी किसरदा ने मड़ावरा निवासी पत्रकार मु० जाकिर मंसूरी पुत्र मुजीम खान को घर से उठाकर जान से मारने की धमकी फोन पर दी थी।
सम्पूर्ण मामले की शिकायत पत्रकार मु० जाकिर मंसूरी पुत्र मुजीम खान व पत्रकारों ने प्रार्थना के देकर इंस्पेक्टर मड़ावरा से की थी।
 
इंस्पेक्टर मड़ावरा ने पत्र को गंभीरता से लेते हुए देशी शराब दुकान संचालक राजू चन्देल पुत्र केहर सिंह चन्देल, निवासी किसरदा के खिलाफ भा.द.स. 1860, धारा 504, 506 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर कार्यवाही शुरु कर दी है।