< परदेसियों को घर पर ही क्वॉरेंटाइन किया जाएगा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बांदा,

परदेसियों को घर पर ही क्वॉरेंटाइन किया जाएगा

बांदा,

कोविड- 19 की बीमारी फैलने के बाद परदेस गए बुन्देलखण्ड के मजदूरों की बड़ी संख्या में वापसी हुई है, यह मजदूर उन स्थानों से वापस लौटे हैं जहां कोरोना के कई पॉजिटिव मामले प्रकाश में आ चुके हैं। ऐसे में वापस आए मजदूरों का चिन्हीकरण कर उन्हें 14 दिनों के लिए घरों में ही क्वॉरेंटाइन करने के लिए निर्देश दिए गए हैं। इसी कड़ी में बांदा के जिलाधिकारी अमित बंसल ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं ।

यह भी पढ़ें : कोरोना के मरीजो में तेजी से इजाफा, अबतक 520 केस व 10 मौते

बताते चलें कि हर साल बुन्देलखण्ड के चित्रकूट धाम मंडल के लगभग दो लाख मजदूर कमाने के लिए मुंबई, सूरत ,दिल्ली, अहमदाबाद जाते हैं इन महानगरों में जानलेवा बीमारी कोरोना फैलने और देश भर में लॉकडाउन होने से मजदूर वापस लौट आए हैं। इनमें तमाम मजदूरों के संक्रमित होने की संभावना को देखते हुए प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। इसी सिलसिले में जिला अधिकारी बांदा ने बाहर से आए मजदूरों को उनके ही घरों में आइसलोड करने का निर्णय लिया है। इसके तहत एक कार्य योजना बनाई गई है, जिसमें प्रत्येक विकासखंड के खंड विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है और विकासखंड के अंतर्गत ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, रोजगार सेवक और सफाई कर्मी को जिम्मेदारी दी गई है कि वह 25 मार्च तक बाहर से आए गांव में व्यक्तियों को चिन्हित करें।

यह भी पढ़ें : आज रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

इसके लिए एक पारूप भी दिया गया है, जिसके तहत प्रदेश से आए व्यक्तियों को चिन्हित कर उनकी जांच कराई जाएगी और उनसे एक शपथ पत्र लिया जाएगा। जिसमें उन्हें लिख कर देना होगा कि वापस आने के दिनांक से 14 दिन तक उन्हें घर में ही रहते हुए सामाजिक दूरी बनाकर अपने परिवार के साथ निवास करना होगा। शपथ पत्र में यह भी दिया जाएगा कि यदि सर्वेक्षण में मुझे खांसी जुखाम तेज बुखार के साथ बलगम की शिकायत होती है तो तत्काल सर्वेक्षण करने वाले अधिकारी से संपर्क कर अवगत कराउंगा। इस शपथ पत्र में मजदूर व नोडल अधिकारी के हस्ताक्षर होंगे।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर यूपी के 17 जिलों में करीब 500 FIR दर्ज

इस शपथ पत्र के आधार पर मजदूरों को घर में ही क्वॉरेंटाइन कर दिया जाएगा इस बीच एकत्र की गई सूचनाओं की रिपोर्ट समस्त विकासखंड के अधिकारी जिला विकास अधिकारी को देंगे और विकास अधिकारी उक्त रिपोर्ट से जिलाधिकारी को अवगत कराएंगे। जिला अधिकारी अमित बंसल के मुताबिक एकत्र की गई सूचनाओं में दर्ज किसी व्यक्ति के अंदर लगातार खांसी जुखाम के साथ तेज बुखार के लक्षण दिखाई देंगे तो जनपद में स्थापित कंट्रोल रूम को जानकारी देंगे साथ ही सर्वेक्षण के दिनांक से 14 दिन की अवधि पूरी करने वाले व्यक्तियों की रिपोर्ट भी जिला विकास अधिकारी को खंड विकास अधिकारी देंगे।

जिला अधिकारी ने बताया कि जनपद में को इसके संक्रमण से बचाव व आपातकालीन व्यवस्था के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है जिसका नंबर 05192 - 22448 है।

अन्य खबर

चर्चित खबरें