< बाहर से आए लोग 14 दिन तक घर पर रहें : जिलाधिकारी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News चित्रकूट,

जिलाधिकारी शेषमणि प"/>

बाहर से आए लोग 14 दिन तक घर पर रहें : जिलाधिकारी

चित्रकूट,

जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के संबंध में डॉक्टर एसोसिएशन के साथ आवश्यक बैठक संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने निजी संस्थानों के डॉक्टरों से कहा कि कोरोना वायरस को देखते हुए जनपद में अधिक से अधिक व्यवस्था रखें। कहां की सरकारी टीमें रेलवे स्टेशनों, बस स्टॉप आदि जगहों पर तैनात होकर कार्य कर रही हैं और बाहर से आने वाले लोगों की लगातार जांच जारी है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि गांव गांव आशा एएनएम को लगाकर जागरूक कराएं। जो बाहर से लोग आ रहे हैं उनकी गांव में ही निगरानी करते रहें। बाहर से जो लोग आ रहे हैं उनके घरों में लिखकर चस्पा करें इनसे 14 दिन तक कोई नहीं मिलेगा। यह अपने घर पर ही रहे। चिकित्सकों ने जिलाधिकारी से जनपद को लाक डाउन घोषित कराए जाने की भी मांग की।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर यूपी के 17 जिलों में करीब 500 FIR दर्ज

इस पर जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी से कहा जनपद की सीमा को सील, मजिस्ट्रेट व पुलिस की व्यवस्था, लाकडाउन आदि की भी तैयारी कर ली जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि 200 सैया अस्पताल पर सभी व्यवस्थाओं के लिए शासन को पत्र भेजे। ताकि वहां पर स्टाफ आदि सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित हो सके। निजी संस्थानों के चिकित्सकों के साथ बैठक कर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें : जिलाधिकारी शेषमणि पांडे ने कोरोना वायरस आदि विभिन्न बिंदुओं पर की समीक्षा बैठक

एसोसिएशन के चिकित्सकों से कहा कि बाहर के जनपदों से सर्जन व फिजीशियन से वार्ता कर ले। ताकि आवश्यकता पड़ने पर जनपद में उन्हें बुलाया जा सके और उनकी सेवाएं ली जा सके। कोई भी मरीज इस वायरस से ग्रसित पाया जाए तो उसकी सूचना तत्काल मुख्य चिकित्सा अधिकारी को उपलब्ध कराएं। जिससे इलाज की संपूर्ण व्यवस्था कराई जा सके। उन्होंने सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट जानकीकुंड के चिकित्सक से कहा कि वेंटिलेटर वाले बेडों की लिखित सूचना दें और टेक्नीशियन आदि की भी व्यवस्था कराएं।

यह भी पढ़ें : कोरोना से निपटने के सरकारी दावे फेल

बैठक में अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, उप जिलाधिकारी कर्वी अश्वनी कुमार पाण्डेय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, निजी संस्थानों के चिकित्सक डॉ सुरेंद्र अग्रवाल, डॉ महेंद्र गुप्ता, डॉ सुधीर अग्रवाल, डॉ प्रबोध अग्रवाल आदि चिकित्सक तथा संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

अन्य खबर

चर्चित खबरें