बदमाशों ने मालगाडी से उड़ाई चावल की बोरियां 

ललितपुर,

मण्डल के मुरैना सेक्शन के सांक स्टेशन पर बुधवार की रात खड़ी मालगाड़ी से बदमाशों ने चावल की बोरियां उतार ली। बदमाशों ने 68 चावंल की बोरियां पास ही झाड़ियों में छुपा दी थी, मगर वो उन्हे ले जाने में सफल नहीं हो सके। 

यह भी पढ़ें कोरोना के प्रति संवेदनशील नहीं है बाँदा के यह चिकित्सक

घटना की जानकारी बृहस्पतिवार की दोपहर होने पर आरपीएफ ने बोरियां बरामद कर लीं। मालगाड़ी की ललितपुर स्टेशन पर जांच की गई। आरपीएफ ने मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है।

मुरैना ग्वालियर सेक्शन के बीच फिर से बदमाश सक्रिय हो गए हैं। बुधवार की रात करीब 12 बीजीए स्पेशल मालगाड़ी सांक स्टेशन की लूप लाइन में खड़ी थी, तभी बदमाशों ने एक वैगन का डाला (दरवाजा) खोला और उसमें रखी चावल की बोरियां लूटकर भाग गए। बोरियों को गिराने के बाद बदमाशों ने डाला बंद कर दिया, ताकि आगे किसी को पता नहीं लग सके कि चावल लूटा गया है। रात को तीन बजे मालगाड़ी चली गई।

यह भी पढ़ें देश की बेटियों को मिला इंसाफ, सुपरिंटेंडेंट का इशारा मिलते इस तरह दी गयी फांसी

सांक स्टेशन पर तैनात प्वाइंट्समैन ने बृहस्पतिवार की सुबह 11.30 बजे पटरियों से तीस मीटर दूरी पर झाड़ियों में चावल की बोरियां रखीं देखी तो इसकी सूचना आरपीएफ को दी। आरपीएफ ने मौके से 68 बोरियां बरामद कीं। बदमाश उक्त बोरियां ले जाने में सफल नहीं हो सके। एक बोरी पचास किलो की है। बाद में मालगाड़ी की ललितपुर स्टेशन पर जांच करवाई गई तो सभी वैगन की सील दुरुस्त पायी गई।

यह भी पढ़ें Corona Virus Live Updates : तबाही का मंज़र

अनुमान लगाया जा रहा है कि झांसी स्टेशन पर संबंधित वैगन में सील न होने पर उसे लगा दिया गया हो। मालगाड़ी पंजाब से विशाखापटनम जा रही थी। इस घटना में रेलवे कर्मचारियों की मिलीभगत का भी पता किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 86 लाख किसानों का ऋण माफ, तीन लाख लोंगो को मिली नौकरियां 

आरपीएफ कमांडेंट उमाकांत तिवारी ने बताया कि घटना की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। साथ ही, उस वैगन का पता लगाया जा रहा है, जिससे बोरियां गिराईं र्गइं हैं।