बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से किसानों की मुसीबत बढ़ी

ललितपुर,

मौसम में बदलाव नहीं हुआ तो किसानों और बढ़ेगी मुसीबत

ओलावृष्टि से मौसम का बदला मिज़ाज, वापस लौटी ठण्ड

बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि ने किसानों की मुसीबत बढ़ा दी है। मड़ावरा क्षेत्र में ठण्ड हवाओं के साथ एक ओर जहाँ बारिश हुई हैं वहीं बारिश के साथ ओलावृष्टि होने से खेतों में खड़ी किसानों की  फसलें खेत मे गिर गई है। इस प्रकार से असमय हो रही बारिश व ओलावृष्टि ने किसानों की समस्या बढ़ा दी है। अच्छी फसल आने की आश लगाये बैठे किसानों के सामने आ रहीं इस प्रकार समस्याओं ने किसान की नींद हराम कर दी है। ब्लॉक मड़ावरा के ग्राम बछरावनी क्षेत्र सहित विभिन्न क्षेत्रों में बारिश व ओलावृष्टि हुई जिससे भारी नुकसान की आशंका जताई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि खेतों में लहलहा रही किसानों की फसलों से किसान ढेरों सपने सजाये बैठे हैं। उम्मीदों की आस और बे मौसम हो रही बारिश व ओलावृष्टि फसलों के नुकसानदायक साबित हो रही है।खेतों में गेहूं की फसल, चना, मटर सहित विभिन्न फसलें खड़ीं हैं जो कि पूरे सबाब पर हैं।

किसान के लिये वर्ष भर के खाने पीने की जरूरतों सहित तमाम कार्यों को पूरा करने का सबसे बड़ा सहारा यही फसलें हैं। किसान दिन रात मेहनत करके अपने उम्मीदों के सपनों को पूरा करते हैं, किन्तु जब दैवीय आपदाएं असमय घटित होने लगतीं हैं तो सिर्फ और सिर्फ नुकसान होता है।

तमाम सारी उम्मीदों पर पानी फिर जाता है। बारिश एवं ओलावृष्टि से फसलों को अभी आंशिक नुकसान है किन्तु यदि मौसम में बदलाव नहीं हुआ स्थिति खराब हो सकती है और यदि प्रकृति किसानों की पुकार सुन लेती है तो फसलों में अधिक नुकसान नहीं होने देगी। फसलों का नुकसान न हो इसके लिये किसान परमात्मा से दिन रात प्रार्थना भी कर रहा है कि बारिश व ओलावृष्टि जैसी दैवी आपदाएं न हों जिससे कि फसलों के नुकसान से बच सकें।

बहरहाल बारिश व ओलावृष्टि किसानों के लिये आफत बनकर आ रही है। किसानों को एक ओर जहां खेतों में खड़ी फसल के घर आने का इंतजार है वहीं दूसरी ओर बारिश व ओलावृष्टि से हो रहे नुकसान से किसान परेशान हैं।