चार दिन से घर नहीं पहुंचा था किसान, खेत में मिला शव

दतिया,

ग्राम चकवेना निवासी एक कृषक का शव चार बाद अपने खेत पर बिजली के तारों में उलझा हुआ मिला है। कृषक चार दिन पहले खेत पर गया था और वहां करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। कृषक के चार दिन से घर न पहुंचने पर दतिया शहर में रह रहे परिजन उसे ढूंढ़ते हुए खेत पर पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। शरीर गल चुका था और बदबू फैल रही थी।

जानकारी के अनुसार ओमप्रकाश पुत्र नाथूराम दुबे का शव पुलिस को एक खेत में पड़ा हुआ मिला। वहीं मौके पर बिजली के तार भी मिले है। इसके चलते पुलिस मान रही है कि इसकी मौत बिजली के तारों से करंट लगने से हुई है। उधर, सूचना मिलने पर जब परिजन मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिस को बताया कि वह 4 दिन से लापता था। उनकी मौत करंट से नहीं हुई है कि सी ने उनकी हत्या की है। हालांकि पुलिस ने बताया कि मामले को जांच में ले लिया है पीएम रिपोर्ट के बाद स्थिति ऐसी स्थिति लगती है तो कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को निगरानी में लिया और पीएम के लिए इंदरगढ़ अस्पताल पहुंचा। लेकिन वहां डॉक्टरों ने यह कहते हुए मना करते हुए जिला अस्पताल भेज दिया। जिला अस्पताल में भी फॉरेंसिक एक्सपर्ट न होने के कारण शव को ग्वालियर रैफर कर दिया गया।