< यहां अध्यापक मारते है और कहते है कि खेलने से आयी चोट Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News मड़ावरा,

डोंगरा खुर्द में ब्लॉ"/>

यहां अध्यापक मारते है और कहते है कि खेलने से आयी चोट

मड़ावरा,

डोंगरा खुर्द में ब्लॉक के एक विद्यालय में शनिवार को होमवर्क नहीं करने पर कक्षा तीन से पांच तक की चार बच्चियों के साथ एक अध्यापक द्वारा 40-40 डंडों की सजा के मामले में खबर छपने के बाद व्यवस्था होश में आयी। बयान लेने पहुंचे खंड शिक्षा अधिकारी को छात्राओं ने दर्दभरी आपबीती सुनाई। इसके बावजूद बच्चो के परिजनों से यह लिखवा लिया गया की बच्चो को खलने के कारण चोट आ गयी है। ऐसे में डरे-सहमे बच्चे सुबकते हुए घर वापस लौट गए। मुकदमा दर्ज करने में देरी और पूरे घटनाक्रम में पुलिस की भूमिका भी संदेह और गांव में चर्चा का विषय रही। 

जब सोमवार को खंड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा विद्यालय पहुंचे। उन्होंने बच्चों से बात की। बच्चों ने मारपीट करने की बात कही। इसके बाद वह चले गए। उधर, अरविंद पटेल द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर नाराहट पुलिस ने अध्यापक एवं दो साथियों को थाना में बैठा लिया था। जब यह बात ग्रामीणों को पता चली तो वह थाना नाराहट पहुंच गए व बच्चों के अभिभावकों ने थाना प्रभारी आनंद पांडेय को लिखकर बताया कि बच्चे गेंद- गड़ा खेल रहे थे, जिससे आपस में एक- दूसरे के पैरों में डंडे लग गए थे। बच्चों ने घर पर डर के मारे बहाना बनाकर अध्यापक की झूठी शिकायत की थी।

हालांकि, सच्चाई यह है कि होमवर्क नहीं करने पर चार बच्चों के साथ अध्यापक ने पिटाई की। जब इसकी खबर ग्रामीणों को लगी और वह स्कूल गए तो शिक्षक विद्यालय से गायब हो गया था। इसके बाद अभिभावकों ने अरविंद के मोबाइल फोन से डायल 112 पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस पहुंची तो मौके पर विद्यालय में कोई नहीं मिला। पुलिस ने सोमवार को अध्यापक एवं अभिभावकों को थाना बुलाया था।

वही इस मामले में खंड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा का कहना है कि विद्यालय में जाकर बच्चों से जानकारी ली और पूछताछ की है। अब आगे की कार्रवाई बेसिक शिक्षा अधिकारी करेंगे।

अन्य खबर

चर्चित खबरें