किन्नरों ने पिल्ले की मनाई छठी, 400 मेहमानों को दी भव्य पार्टी

महोबा,

जिले में एक किन्नर ने ऐसी मिसाल पेश की है जिसे जानकर आपको आश्चर्या होगा। एक किन्नर ने अपने कुत्ते का चौक बड़ी धूमधाम से कर यह साबित कर दिया कि जिससे हम प्यार करते है उसे कैसे अपनाते है, चाहें वह जानवर ही क्यों न हो। कुछ दिन पहले दुर्घटना में घायल हुई पिल्ले की मां (मादा कुत्ता) का किन्नरों ने न सिर्फ उपचार कराया, बल्कि पिल्ले को जन्म देने पर उसकी छठी धूमधाम से मनाई। कुआं पूजन से लेकर सोहर गीत गाए और करीब चार सैकड़ा लोगों को भोजन कराया।

बता दें कि कांशीराम कालोनी में रहने वाले किन्नर मंजू ने बड़ी धूमधाम के साथ अपने घर मे पाली डागी जिसका नाम चंदो है जिसने एक पिल्ले को जन्म दिया। जिसका नामकरण किया गया और पिल्ले का नाम कल्लू रखा है। मंजू ने बड़ी खुशी और गाजे-बाजे के साथ अपनी चंदो को मांग-माहुर लगाकर तैयार किया। मंजू ने कालोनी ही नहीं पड़ोस के गांव से भी लोंगो को आमंत्रित किया।

इस अद्भभुत प्रेम को देखने के लिए दर्जनों किन्नर भी शामिल हुए जिन्होंने बधाई गीत गाये हैं। पड़ोस के गांव से शामिल होने आयी महिला ने बताया कि मंजू किन्नर ने एक साल पहले उस कुतियां को बड़े लाड़ प्यार से अपने बच्चे की तरह पाला था। हम सभी दर्जनो ग्रामीण इस कार्यक्रम में शामिल हुए है। बरहाल इस आयोजन में किन्नर ने पशु प्रेम की मिसाल पेश की है।