< जनसुनवाई में 125 आवेदनों पर की गयी जनसुनवाई Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News पन्ना, 

कलेक्टर श्री कर्मवी"/>

जनसुनवाई में 125 आवेदनों पर की गयी जनसुनवाई

पन्ना, 

कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा द्वारा जिले में आम आदमी की रोजमर्रा से जुडी बुनियादी समस्याओं के मौके पर समाधान के लिए अभ्युदय योजना लागू की गयी थी। इस योजना के तहत जनपद स्तर एवं ग्राम स्तर पर अभ्युदय दल गठित किए गए थे। ग्राम स्तर पर गठित किए गए अभ्युदय दल प्रत्येक मंगलवार को ग्राम पंचायत में बैठक आयोजित कर जनसुनवाई करने लगे हैं। बैठक के उपरांत दल के सदस्य स्कूलों, आंगनवाडी केन्द्रों में जाकर मध्यान्ह भोजन आदि का निरीक्षण करते हैं इसके अलावा दल के सदस्य अपने क्षेत्र के गांव में जाकर गृहभेट कर लोगों को शासकीय योजनाओं की जानकारी देने के साथ-साथ उनकी समस्याओं को सुनते हैं। जिससे जिला स्तर पर जनसुनवाई में आने वाले आवेदकों की संख्या में कमी आई है। 

कलेक्टर श्री शर्मा द्वारा विभिन्न विभागों के जिला प्रमुखों के साथ आम आदमी की रोजमर्रा से संबंधित समस्याओं को सुनने के साथ संबंधित विभाग के अधिकारी को निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने जनसुनवाई में उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी अधिकारी सीएम हेल्पलाईन उत्तरा एवं समयावधि पत्रों के निराकरण समयसीमा में करें। 

कलेक्टर श्री शर्मा द्वारा पूर्व में किए गए नवाचार को परिस्कृत रूप से क्रियान्वित करने के लिए एक नये साफ्टवेयर को प्रारंभ किया जा रहा है। इस साफ्टवेयर के माध्यम से ग्राम स्तर में अभ्युदय दल के सदस्यों को प्राप्त होेने वाले आवेदनों को आॅनलाईन दर्ज किया जाएगा। आवेदन दर्ज होने के साथ ही निराकरण के लिए संबंधित विभाग में आॅनलाईन दिखाई देने लगेगा। जिससे संबंधित विभाग आवेदन पर त्वरित गति से कार्यवाही करेगा। आवेदनों पर होने वाली कार्यवाही को जिला स्तर पर भी देखा जा सकेगा। इस साफ्टवेयर के माध्यम से आॅनलाईन होने वाले आवेदनों पर होने वाली कार्यवाही की प्रत्येक सप्ताह समीक्षा की जाएगी। 

कलेक्टर श्री शर्मा ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने कार्यालय में जनसुनवाई में प्राप्त होने वाले आवेदनों का निराकरण आगामी जनसुनवाई होने के पूर्व करने के साथ उत्तरा पोर्टल पर अनिवार्य रूप से दर्ज कराएं। इसके अलावा अन्य योजनाओं से संबंधित आवेदनों का  प्राथमिकता के साथ निराकृत करने के लिए नियुक्त अधिकारी/कर्मचारी को निर्देश दें। जनसुनवाई में उपार्जन के भुगतान, नजायज कब्जा, शासकीय भूमि अतिक्रमण, उद्यमी योजना के ऋण प्रकरणों, आशा कार्यकर्ता आदि के 125 आवेदनों पर जनसुनवाई की गयी। इस अवसर पर कलेक्टर श्री शर्मा ने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि गरीब व्यक्तियों की भूमि पर नजायज कब्जाधारियों से भूमि स्वामी को कब्जा दिलाने के साथ-साथ संबंधित के विरूद्ध पुलिस में प्रकरण दर्ज करवाएं। जिससे दोबारा गरीब व्यक्तियों को परेशान न किया जा सके। उद्यमिता योजना के ऋण प्रकरणों की स्वीकृति के संबंध में संबंधित विभाग को निर्देश दिए कि बैंक से सम्पर्क स्थापित कर स्वरोजगार संबंधी प्रकरणों में सभी पात्र हितग्राहियों को समय पर ऋण दिलवाएं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि नगरीय क्षेत्रों में भू माफियाओं द्वारा शासकीय भूमि पर कब्जा करके अनाधिकृत रूप से भूमि का उपयोग किया जा रहा है। ऐसे मामलों पर तुरंत कार्यवाही की जाए। 

कलेक्टर के साथ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री बालागुरू के., अपर कलेक्टर श्री जे.पी. धुर्वे, संयुक्त कलेक्टर श्री सिकलचन्द्र परस्ते एवं डिप्टी कलेक्टर सुश्री रचना शर्मा के साथ विभिन्न विभाग के जिला प्रमुखों द्वारा जनसुनवाई की गयी। जनसुनवाई में राजस्व विभाग, जय किसान ऋण माफी योजना, किसान पंजीयन, जाति प्रमाण पत्र, उपचार सहायता, दिव्यांग सहायता, भूअर्जन, विद्युत बिल, अतिक्रमण आदि के आवेदनों पर सुनवाई की गयी। 

आम आदमी सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए जनसुनवाई एवं अन्य योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए जिले में अभ्युदय योजना लागू की गयी है। इसके तहत जिला स्तर से ग्राम पंचायत स्तर तक दल गठित किए गए हैं। यह दल कलेक्टर के निर्देशानुसार जनसुनवाई करने के साथ आवेदनों के निराकरण की कार्यवाही करते हैं। जो आवेदन मौके पर निराकृत हो जाते हैं उन्हें निराकृत करने के साथ शेष आवेदनों की जानकारी संबंधित आवेदक को दी जाती है। जिससे आवेदकों को बार-बार भटकना नही पडता। 
 

अन्य खबर

चर्चित खबरें