< बुन्देली व्यंजनों की प्रतियोगिता कराने की तैयारी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बांदा,  

जिलाधिक"/>

बुन्देली व्यंजनों की प्रतियोगिता कराने की तैयारी

बांदा,  

जिलाधिकारी बांदा हीरालाल कुछ न कुछ नया करके सुर्खियों में बने रहते हैं। इसी कड़ी में उन्होंने स्वाद एवं पोषक तत्वों से भरपूर बुन्देली व्यंजनों की प्रतियोगिता कराने की पहल की है।

इस सम्बन्ध में सोमवार को जिलाधिकारी ने कैम्प कार्यालय में एक बैठक के दौरान बुन्देली व्यंजन, बफौरी, निबोना, रसखीर, अद्रेनी, थोपा, महेरी, पूड़ी के लड्डू, दलभजिया, मुर्का और लाटा, फरहा, बेसन के आलू, मींड़ा आदि भूले-बिसरे व्यंजनों की याद ताजा करने के लिए जनपद के विद्यालयों, महाविद्यालयों में गृहविज्ञान से सम्बन्धित निबन्ध प्रतियोगिता कराए जाने का निर्णय लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि जो छात्र-छात्राएं प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करेंगे, उन्हें प्रशस्तिपत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। इसके बाद द्वितीय सप्ताह में जिले के बाइस विद्यालयों में बुन्देली व्यंजनों की प्रतियोगिता कराई जाएगी। उस प्रतियोगिता में जो छात्र-छात्राएं प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करेंगे, उन्हें छंटनी कर जिला स्तर पर बुन्देली पूहृड फेस्टिवल का आयोजन किया जाएगा। उसमें जो छात्र-छात्राएं प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करेंगे, उन्हें भी सम्मानित किया जाएगा।

जिलाधिकारी ने कहा कि परम्परागत व्यंजनों को जीवित रखने का यही एकमात्र उपाय है क्योंकि ये बहुत ही स्वादिष्ट एवं पौष्टिक होते हैं। यह आयोजन एनआरएलएम और आईसीडीएस व जिला प्रोबेशन के संयुक्त तत्वावधान में कराया जाएगा। इसमें एनआरएलएम समूह की महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा जोड़ने का कार्य किया जाएगा। उन्होंने उपायुक्त एनआरएलएम केके पाण्डेय को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी विद्यालयों से बुन्देली व्यंजनों में क्या-क्या अच्छे गुण होते हैं, इस सम्बन्ध में सुझाव मांगे जाएं। इसके बाद विचार मंथन किया जाएगा कि बुन्देली व्यंजनों को कैसे ख्याति दिलाई जाए।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें