गुणवत्ता की अवश्य कराएं तकनीकी जांचःडीएम

@ राजकुमार याज्ञिक, चित्रकूट,

50 लाख से अधिक परियोजनाओं की बिन्दुवार की गई समीक्षा

जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में 50 लाख रूपये से अधिक की परियोजनाओं की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में विभिन्न कार्यदाई संस्थाओं के अधिकारियों के साथ सम्पन्न हुई।

जिलाधिकारी ने क्रिटिकल गैप्स, त्वरित आर्थिक विकास योजना के कार्यों, शबरी जल प्रपात, कर्वी देवांगना मार्ग में इंटरलॉकिंग तथा प्रकाश व्यवस्था, पशु आश्रय गृह खण्डेहा, खोया पाया केंद्र खोही, रामघाट के सुंदरीकरण, बेड़ी पुलिया से रामघाट के सड़कों के निर्माण, राजकीय महाविद्यालय पाही, स्वदेश दर्शन के कार्य, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बारहमाफी, राजकीय पॉलिटेक्निक मानिकपुर, जनपद न्यायालय, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज मानिकपुर, राम मनोहर लोहिया प्रेक्षागृह, नंदी गौशाला का निर्माण, पशु चिकित्सालय रुखमा खुर्द तथा घुरेटनपुर, हाई स्कूल ददरी माफी, राजकीय पॉलिटेक्निक बरगढ़ बस स्टॉप, चिल्ली मल पंप हाउस, रसिन बांध, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रैपुरा, शिवरामपुर, रामनगर, राजकीय हाई स्कूल इटवा डुडैला, मड़ैयन, ऐलहा बढ़ैया, बरगढ़ व मऊ पेयजल समूह, हन्ना बिनैका व सूरसेन पेयजल समूह, नवीन मंडी निर्माण कार्य कर्वी आदि विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बिंदुवार की गई। जिलाधिकारी ने कार्यदाई संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए की धनराशि को खर्च कर कार्य को पूर्ण कराते हुए उपभोग प्रमाण पत्र एक सप्ताह के अंदर उपलब्ध कराएं। अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग से कहा कि कर्वी देवांगना मार्ग के कार्य पर पटरी तथा नाली का प्रावधान किया जाए तथा प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजें।

अधूरे कार्यों पर सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही के दिये निर्देश

उन्होंने कहा कि जिन विभागों की जमीन संबंधी मामले न्यायालय में विचाराधीन है उनको संबंधित विभाग पैरवी करके निस्तारण कराएं ताकि उन पर कार्य हो सके। उन्होंने कहा कि जिन विभागों के कार्य हैं उनके अधिकारियों को भी बैठक में बुलाया जाए। सड़कों के निर्माण पर कहा कि जिन विभागों के कार्य होने हैं उनको तत्काल पूर्ण कराएं। ताकि सड़कों के कार्यों पर तेजी आ सके। हेल्थ एंड वेल्डेन सेंटर निर्माण पर कहा कि 15 दिन के अंदर सभी कार्य पूर्ण करें। शासन की मंशा के अनुरूप कार्यों में तेजी लाई जाए कार्य कराते समय गुणवत्ता का विशेष ध्यान दें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। बरगढ़ तथा मऊ पेयजल योजना पर जिला विकास अधिकारी से कहा कि परियोजना प्रबंधक जल निगम से एक प्रमाण पत्र लें और तकनीकी कमेटी बनाकर जांच करा ली जाए। उन्होंने अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका कर्वी से कहा कि 15 दिन के अंदर सभी कार्य पूर्ण करा लें तथा वर्ष 2017-18 के कार्य जो पूर्ण हो गए हैं उनका उपभोग प्रमाण पत्र दें। ताकि शासन को रिपोर्ट भेजी जा सके। उन्होंने कहा कि जवाब तलब किया जाए इनके द्वारा कार्यों में रुचि नहीं ली जा रही। मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि इनकी कार्यों की स्थिति अत्यंत खराब है इनके कार्यों की भी तकनीकी जांच कराएं। कान्हा गौशाला का कार्य मार्च 2020 तक प्रत्येक दशा में पूरा हो जाना चाहिए। क्रिटिकल गैप्स योजना के कार्यों पर कहा कि संबंधित अधिकारी निर्धारित समय सीमा के अंदर कार्यों को पूरा कराएं अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देश दिए बेड़ी पुलिया से रामघाट तक जो तार शिफ्टिंग का कार्य कराया जाना है उसे तत्काल करा दिया जाए। ताकि उसमें अच्छी प्रकार से लाइट व्यवस्था कराई जा सके।

जिलाधिकारी ने कहा कि ग्रामीण अभियंत्रण सेवा द्वारा जिन सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है उसकी कमेटी गठित कर गुणवत्ता की जांच अवश्य करा लिया जाए। वर्ष 2015 में राजकीय महाविद्यालय पाही का कार्य शुरू हुआ है। इसमें कार्य में तेजी नहीं हो रही। इनके पूर्व राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक के खिलाफ शासन को पत्र भेजा जाए। कहा कि जितनी धनराशि मिली है उसमें मुख्य भवन को पूर्ण कर हैण्डओवर कराएं। जिला विद्यालय निरीक्षक से कहा कि एक रिपोर्ट बनाकर उपलब्ध कराएं। स्वदेश दर्शन के कार्यों में जो कार्य होना है उसका प्रस्ताव प्राप्त कराएं तथा जो कार्य पूर्ण हो गए हैं उन्हें तत्काल हैण्डओवर कराया जाए। जिला विकास अधिकारी से कहा कि इनके कार्यों की गुणवत्ता की तकनीकी जांच अवश्य करा लिया जाए। मुख्य विकास अधिकारी ने परियोजना प्रबंधक राजकीय निर्माण निगम को निर्देश दिए कि जो भी कार्य कराए जा रहे हैं उनका स्टीमेट प्रस्तुत करे। ताकि गुणवत्ता की जांच कराई जा सके। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बारामाफी के निर्माण पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि विभाग से संबंधित कार्यों का निरीक्षण कर लें और अवर अभियंता स्वास्थ्य विभाग द्वारा अगर कार्य नहीं किया जा रहा तो इनके खिलाफ शासन को पत्र भेजें। दूसरे अवर अभियंता की मांग की जाए। राजकीय बालिका इंटर कॉलेज मानिकपुर के निर्माण कार्य की पूरी धनराशि मिलने के बावजूद सीएनडीएस द्वारा रिवाइज स्टीमेट भेजा गया है। इनके अधिकारियों के खिलाफ शासन को पत्र भेजकर कार्रवाई कराई जाए तथा इनके द्वारा जो भी कार्य कराए गए हैं उनकी तकनीकी टीम से जांच अवश्य हो। ऐंचवारा गौशाला के निर्माण की तकनीकी जांच कराई जाए। उसमें उप जिलाधिकारी मानिकपुर तथा अधिशाषी अभियंता निर्माण खण्ड एक की कमेटी गठित कर स्टीमेट लेकर जांच कराएं।

जिलाधिकारी ने कार्यदाई संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए की समयबद्ध तरीके से अपने विभागों के कार्य शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्तायुक्त कराया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतें। कोई भी कार्य मानक के विपरीत नहीं होना चाहिए यह सुनिश्चित कर लिया जाए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा महेंद्र कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा विनोद कुमार, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, उप जिलाधिकारी कर्वी अश्विनी कुमार पाण्डेय सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।