< सरकारी स्कूलों की किताबें रद्दी के भाव बेच दी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बाँदा,

बीए"/>

सरकारी स्कूलों की किताबें रद्दी के भाव बेच दी

बाँदा,

बीएसए ने कहा 24 घंटे में होगी कार्रवाई

प्राथमिक व जूनियर कक्षाओं में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की किताबें शिक्षा विभाग के ही कर्मचारी ने रद्दी के भाव कबाड़ी को बेच दी। सूचना के बाद घंटों में पहुंचे बीएसए ने जांच के बाद 24 घंटे में कार्यवाही की बात कही है।

घटना शहर कोतवाली अंतर्गत अतर्रा चुंगी के पास की है। बुधवार को इसी मोहल्ले में रहने वाले शिक्षा विभाग के कर्मचारी ने सरकारी सर्व शिक्षा अभियान की हजारों किताबें रद्दी के भाव कबाड़ी को बेच दी। यह देख कर कुछ युवकों ने बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिश्चंद्र को फोन किया, लेकिन कई घंटे बाद पहुंचे बीएसए ने इस बात की पुष्टि की और बताया कि यह किताबें प्राइमरी व जूनियर कक्षाओं की है।

उधर बीएसए के पहुंचने से पहले ही शिक्षा विभाग का उक्त कर्मचारी घर में ताला लगाकर मौके से फरार हो गया। इस बीच जिलाधिकारी ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए बीएसए को कड़ी फटकार लगाई है। घटनास्थल पर पहुंचे बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि यह किताबें वर्ष2018 -19 सत्र की है। इसमें जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि 24 घंटे के अंदर ही दोषी व्यक्ति के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। इधर किताबे खरीदने वाले कबाड़ी जुबेर ने बताया कि मैंने यह किताबें 6 रू. प्रति किलो के हिसाब से खरीदी हैं। उससे जब पूछा गया कि उस उसने यह सरकारी किताबें क्यों खरीदी हैं। इस पर उसने सफाई देते हुए कहा कि मैं पढ़ा लिखा नहीं हूं। कबाडी का काम करता हूं, रद्दी समझकर कर खरीद लिया।

इस बीच स्थानीय लोगों ने बताया कि कल बड़ोखर ब्लाक से भी सरकारी किताबें बेची गई हैं जो दो डीसीएम गाड़ियों में लदकर गई हैं। इन किताबों को भी शिक्षा विभाग द्वारा बेचा गया है इस मामले में जब बीएसए से जानकारी मांगी गई तो उन्होंने कहा कि यह मेरे संज्ञान में नहीं है ,लेकिन जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

अन्य खबर

चर्चित खबरें