< पोलैंड में भगवान कृष्ण के खिलाफ केस Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @सौरभ चन्द्र द्विवेदी, विश्लेषक

पोलैंड में भगवान कृष्ण के खिलाफ केस

@सौरभ चन्द्र द्विवेदी, विश्लेषक

दुनिया भर में तेजी से बढ़ता हिंदू धर्म का प्रभाव देखिये कि वारसॉ, पोलैंड में एक नन ने इस्कॉन के खिलाफ एक मामला अदालत में दायर किया था ! 

नन ने अदालत में टिप्पणी की कि इस्कॉन अपनी गतिविधियों को पोलैंड और दुनिया भर में फैला रहा है, और पोलैंड में इस्कॉन ने अपने बहुत से अनुयायी तैयार कर लिए है ! अत: वह इस्कॉन पर प्रतिबन्ध चाहती हैक्योंकि उसके अनुयायियों द्वारा उस 'कृष्णा' को महिमामंडित किया जा रहा है, जो ढीले चरित्र का था और जिसने १६,००० गोपियों से शादी कर रखी थी ! 

इस्कॉन के वकील ने न्यायाधीश से अनुरोध किया : "आप कृपया इस नन से वह शपथ दोहराने के लिए कहें, जो उसने नन बनते वक्त ली थी" 

न्यायाधीश ने नन से कहा कि वह जोर से वह शपथ सुनाये, लेकिन वह ऐसा नहीं करना चाहती थी ! फिर इस्कॉन के वकील ने खुद ही वह शपथ पढ़कर सुनाने की न्यायाधीश से अनुमति माँगी ! 

न्यायाधीश ने आज्ञादे दी , 

इस्कॉन के वकील ने कहा पुरे विश्व में नन बनते समय लड़कियां यह शपथ लेती है कि "मै जीजस को अपना पति स्वीकार करती हूँ और उनके अलावा किसी अन्य पुरुष से शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाउंगी". 

इस्कॉन के वकील ने कहा, "न्यायाधीश महोदय ! तो यह बताइये कि अब से पहले कितने लाख ननों ने जीसस से विवाह किया और भविष्य में कितनी नन जीसस से विवाह और करेंगी. 

भगवान् कृष्ण पर तो सिर्फ यह आरोप है कि उन्होंने 16,000 गोपियों से शादी की थी, मगर दुनिया में दस लाख से भी अधिक नने हैं, जिन्होंने यह शपथ ली है कि उन्होंने यीशु मसीह से शादी कर रखी है! 

अब आप ही बताइये जज साहब आपका क्या कहना कि यीशु मसीह और श्री कृष्ण में से कौन पूजनीय है और कौन निम्न चरित्र है ? साथ ही ननो के चरित्र के बारे में आप क्या कहेंगे ? 

न्यायाधीश ने दलील सुनने के बाद मामले को खारिज कर दिया ! 

( फेसबुक वाल से साभार )

अन्य खबर

चर्चित खबरें