दरोगा बेटे की मौत की खबर सुन कर माँ की मौत

@विवेक चौरसिया, महोबा

उप निरीक्षक रमाकांत सचान की कोतवाली महोबा में संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगा कर जान देने की खबर सुनकर उनकी बृद्ध माता 85 वर्षीय राजरानी ने दम तोड़ा। शहर कोतवाली में तैनात उप निरीक्षक का शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में कोतवाली परिसर स्थित आवास में फांसी के फंदे पर शव मिलने से हड़कंप मच गया। घटना की सूचना मिलते ही आनन फानन में एसपी सहित भारी पुलिस आलाधिकारियों ने मौके पर पहुंच मामले की जांच शुरू कर दी है। वही जब इस घटना की खबर उनकी को लगी तो वह ये सदमा बरदास्त न कर सकी और उन्होने दम तोड दिया।

रमाकांत को अप्रैल 2020 में सेवानिवृत्त होना सुनिश्चित था। ऐसे में उनका ट्रांसफर कुछ दिनों पहले प्रयागराज कर दिया गया था। मृतक दारोगा का परिवार मौजूदा समय मे कानपुर देहात में रहता है। सूत्रों की माने तो ट्रांसफर को लेकर उपनिरीक्षक काफी परेशान रहते थे। फिलहाल एसपी महोबा मणिलाल पाटीदार मामले को सदिंग्ध बता रहे है। एसपी के मुताबिक कोतवाली स्थित आवास में फंदे पर शव लटकता मिला है।

यहां भी क्लिक करे ....
कोतवाली में दरोगा का शव फाँसी पर झूलता मिला