अमेरिका का बगदाद हवाई अड्डे पर एयर स्ट्राइक, इराक बोला लेंगे बदला

अमेरिका ने बगदाद हवाई अड्डे पर एयर स्ट्राइक किया। इराक की राजधानी बगदाद में स्थिति अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले के बाद अमेरिका ने बहुत सख्‍त कार्रवाई की है। अमेरिका ने शुक्रवार को बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक की जिसमें ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई। रिपोर्टों में कहा गया है कि सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था तभी एक रॉकेट हमले की जद में आ गया।

हसन रूहानी ने ट्वीट कर कहा, 'देश की क्षेत्रीय अखंडता और क्षेत्र में आतंकवाद और उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई में जनरल सोलीमनी के झंडे को उठाया जाएगा, अमेरिकी ज्यादतियों का प्रतिरोध जारी रहेगा। महान देश ईरान इस जघन्य अपराध का बदला लेगा।

बता दें ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी इराक की राजधानी बगदाद में अमेरिकी हवाई हमले में मारे गए। तेहरान स्थित प्रेस टीवी के मुताबिक, ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि हमले में हशद शाबी या इराकी पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्सेज के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी सुलेमानी के साथ मारे गए। बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर उनके वाहन को निशाना बनाया गया।

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'राष्ट्रपति के निर्देश पर अमेरिकी मिलिट्री ने अमेरिका की सुरक्षा के लिए इस निर्णायक सुरक्षात्मक कार्रवाई को अंजाम दिया जिसमें ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की कुद्स फोर्स के चीफ मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई।' 

बयान में कहा गया, 'जनरल सुलेमानी इराक और उस इलाके में अमेरिकन डिप्लोमेट्स और सर्विस मेंबर्स पर हमले की योजना बना रहा था। जनरल सुलेमानी और उसकी कुद्स फोर्स सैकड़ों अमेरिकन और गठबंधन सेवा के सदस्यों की मौत के जिम्मेदार थी।' 

बयान में कहा गया कि जनरल सुलेमानी ने पिछले कई महीनों में गठबंधन के ठिकानों पर हमलों को अंजाम दिया था. इन हमलो में 27 दिसंबर का वह हमला भी शामिल था जिसमें अमेरिकी और इराकी नागरिकों की मौत हुई। जनरल सोलमनी ने इस हफ्ते बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले को भी मंजूरी दी थी।