< पढ़ने की बजाय बर्तन धो रहे है बच्चे Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @सत्यनारायण शुक्ला, सागर

पढ़ने की बजाय बर्तन धो रहे है बच्चे

@सत्यनारायण शुक्ला, सागर

जिले के ग्रामीण अंचलों के स्कूलों में नही रुक पा रहा है बच्चों से वर्तन साफ करने का काम। ऐसा ही मामला सामने आया है देवरी विधानसभा क्षेत्र के पंजेर शासकीय मिडिल स्कूल का, जहां मध्यभोजन खाने के बाद यहां के बच्चों को खुद ही अपने वर्तन धोने पड़ते हैं। जबकि ये काम मध्यभोजन देने वाले समूहों का काम होता है। और इस काम के लिये अलग से कर्मचारी रखे जाते हैं। लेकिन ग्रामीण इलाकों में कुछ रुपयों की लालच के चक्करों के लिए ये मध्यभोजन के वाले इन बच्चों से ये काम करवाते हैं। इस काम में वँहा के स्कूल स्टाफ की भी मिलीभगत रहती है। पंजेर शासकीय स्कूल में कुल 54 बच्चे पढ़ाई करते हैं और ये सारे बच्चे खाना खाने के बाद खुद ही अपने वर्तन साफ करने के लिए मजबूर हैं।

जब इस संबंध स्कूल प्रभारी से पूछा गया तो वो भी गोलमोल जवाब देने लगे बच्चों द्धारा स्कूल में वर्तन धोने की बात जिले के शिक्षा अधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने भी कहा कि इसकी जाँच करवा कर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। खैर देखना यह होगा की ग्रामीण अंचलों में संचालित होने वाली इन सरकारी स्कूलों में आय दिन बच्चों के द्धारा मध्यभोजन देने वाले समूहों की मनमर्जी पर ये आला अधिकारी कब तक लगाम लगते हैं।

बुंदेलखण्ड के सागर जिला के देवरी विधानसभा क्षेत्र से बच्चों से खाना खाने के बाद थाली धुलवाने का शर्मनाक सच सामने आया है। देवरी विधानसभा क्षेत्र के पंजेर शासकीय मिडिल स्कूल है 54 बच्चे पढ़ते हैं आपके सामने तस्वीर है जो बच्चों की उम्र खेलने और पढ़ने की है। उसी में बच्चों से थाली धुलवाने का यह घिनौना यह काम करवा रहा है। खाना बनाने वाला समूह संचालक जिसमें बच्चों को खाना खाने के बाद अपनी थाली खुद धोनी पड़ती है। और समूह "संचालक सब पैसे बचा कर रखते हैं। हालांकि पैसे बचाकर क्यों ना रखें ना जाने कब मंत्री हर्ष यादव उनके स्कूल आने का फरमान सुना दे तो उन्हें आनन-फानन में टेंट और खाने-पीने का मंत्री जी का खर्चा कहां से करेंगे"। 

यह थाली धोते हुए बच्चों की तस्वीर धब्बा है सरकार और उसकी सोच पर जो करोड़ों रुपए खर्च कर कर मिड-डे-मील जैसी योजनाएं चलाती है बच्चे नादान होते हैं जो शिक्षकों ने बोला खुशी से कर दिया जब इस संबंध में सवाल जिला डीपीसी से हुआ वह अपनी सफाई देने में जुट गए।

अन्य खबर

चर्चित खबरें