< संभागीय साहित्य सम्मेलन में साहित्यकार हुए सम्मानित Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News  सागर, 

बुन्देलखण्ड हिंदी साहित्य संस्"/>

संभागीय साहित्य सम्मेलन में साहित्यकार हुए सम्मानित

 सागर, 

बुन्देलखण्ड हिंदी साहित्य संस्कृति विकास मंच सागर द्वारा आयोजित दो दिवसीय संभागीय साहित्यकार सम्मेलन का रविवार को समापन हाे गया। बीएस जैन धर्मशाला बड़ा बाजार में हुए समारोह में स्कूल और काॅलेज के विद्यार्थियों ने बुंदेलखंड अंचल के साहित्यकारों की मौजूदगी में समूह गायन, स्वरचित कविता और भाषण प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा दिखाई।  इसके आधार पर विजेता अाैर सभी प्रतिभागियों काे पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम संयोजक मणीकांत चौबे ने स्वागत भाषण में सागर की गौरवशाली साहित्यिक पृष्ठभूमि पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने इस अवसर पर महाकवि पद्माकर,जहूरबख्श,डॉ.हरीसिंह गौर, पं.लोक नाथ सिलाकारी व्याकरणविद्,पं.ज्वालाप्रसाद ज्योतिषी आदि का स्मरण करते हुए समारोह की निरंतरता जारी रखने की बात कही। राजेंद्र दुबे कलाकार ने संभागीय साहित्यकार सम्मेलन का परिचय दिया।इस अवसर पर  विभिन्न महत्वपूर्ण विभूतियों की स्मृति में सागर‌ संभाग के 16 साहित्यकारों को सम्मानित किया गया।सम्मान पत्रों का वाचन राजेंद्र दुबे तथा जीवन परिचय का वाचन पूरन सिंह राजपूत ने किया। संचालन मणीकांत चौबे ने किया तथा संस्था अध्यक्ष डॉ.सीताराम श्रीवास्तव ने आभार माना।

कार्यक्रम में सहयोगी संस्था श्यामलम द्वारा उद्घाटन दिवस पर की गई स्कूल एवं महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं की भाषण, समूह गान व स्वरचित कविता प्रतियोगिता के विजेताओं एवं प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में पंचांग आर्यभट्ट रचयिता पं.पीएन भट्ट सागर, पुस्तकें- गोपी विरह लेखक-पं. राम कुमार तिवारी, मधु माटी लेखक-दिलीप गुप्ता चटपटे, सागर के मोती लेखक- मोती लाल मोती सागर, बुंदेली गुईयां लोकगीत संग्रह लेखक बिहारी सागर सम्मानित किए गए। वहीं साहित्यकार रघु ठाकुर, डॉ.वेद प्रकाश दुबे, डॉ. राजेंद्र मलैया नमन की पुस्तकों का विमोचन किया गया। इस अवसर पर प्रो.उदय जैन, डॉ. जीवनलाल जैन, हरगोविंद विश्व, ऋषभ समैया जलज, डॉ.महेश तिवारी, उमाकांत मिश्र, कपिल बैसाखिया, मधुसूदन सिलाकारी, जेपी पांडे, ऋषभ समैया उपस्थित थे।

छात्र-छात्राओं की भाषण, समूह गान व स्वरचित कविता प्रतियोगिता के विजेताओं एवं प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया गया। जिनमें समूह गायन प्रतियोगिता स्कूली स्तर जैन हायर सेकंडरी - प्रथम सहभागी छात्राएं खुशबू राव, निकिता राव,चंचल सोनी, अरसीना राईन, महक रैकवार, टीना घनघोरिया।

जनता हा. सेकंडरी स्कूल द्वितीय। सहभागी छात्राएं रक्षा वासुदेव,रुचि रैंकवार,अदीबा खान, इशिका ठाकुर, नाहिद खान, शालेहा खान, मुस्कान रैकवार, मोहिनी रैकवार।

भाषण प्रतियोगिता स्कूली स्तर प्रथम स्थान कु.सृष्टि जैन जनता हा.सेकेंडरी स्कूल।

भाषण प्रतियोगिता महाविद्यालय स्तर शैलैष तिवारी डा.हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय-प्रथम।

स्वरचित काव्यपाठ महाविद्यालय स्तर- प्रथम कु.अदिति भट्ट डा.हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय। 

कार्यक्रम में इन पुस्तकों और पंचांग का  लोकार्पण भी किया गया -

पंचांग- "आर्यभट्ट"रचयिता पं.पी.एन.भट्ट सागर

पुस्तकें-" गोपी विरह" लेखक-पं. राम कुमार तिवारी दमोह, "मधु माटी"लेखक-दिलीप गुप्ता चटपटे खुरई,"सागर के मोती" लेखक- मोती लाल मोती सागर," बुंदेली गुईयां" लोकगीत संग्रह लेखक- बिहारी सागर।

सम्मानित किए गए साहित्यकार-

सागर- श्री रघु ठाकुर,डॉ.वेद प्रकाश दुबे,डॉ. राजेंद्र मलैया नमन खुरई।

टीकमगढ़- डॉ.नरेंद्र मोहन अवस्थी,श्री पूरन चंद गुप्ता,श्री प्रभुदयाल श्रीवास्तव 'पीयूष'।

छतरपुर- श्री मनोज कुमार तिवारी,श्रीमती गायत्री खरे 'केशव', श्री कन्हैया लाल साहू 'सुदर्शन'।

पन्ना- श्री प्रतीक द्विवेदी, डॉ. सीमा दीक्षित, श्रीमती मीना मिश्रा, एस. कुमार चनपुरिया।

दमोह- श्रीमती आशा राठौर,श्री राजेंद्र कुमार नेथन (नाथन),अब्दुल शकूर 'अंजुम दमोही'।

निवाड़ी- डॉ राजेश पाठक।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें