विद्युत संविदा कर्मी का शव सड़क पर रखकर परिजनों ने लगाया जाम

बाँदा,

विद्युत विभाग के संविदा संविदा कर्मी की सड़क दुर्घटना में हुई मौत को हत्या का मामला बताते हुए मृतक के परिजनों ने शनिवार को नेशनल हाईवे पर लाश को रखकर जाम लगा दिया। जिससे घंटों सड़क के दोनों ओर वाहनों का आवागमन ठप रहा।

घटना के बारे में मृतक के पुत्र सुरेश कुमार निवासी जवाहर नगर ने बताया कि 12 दिसंबर को शाम लगभग 6 बजे दरोगा उर्फ उदय वीर पुत्र अज्ञात एक अन्य साथी के साथ घर आया। दोनों बबेरू के निवासी हैं। इन्होंने मेरे पिता लाला उर्फ रामशरण पुत्र श्यामलाल को बबेरू ले जाने के लिए कहा ,हालांकि मैंने और मेरी मां ने उन्हें बबेरू ले जाने से मना किया लेकिन दरोगा उर्फ उदय वीर ने आश्वासन दिया कि मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ शुक्रवार को सवेरे 8 बजे तक घर छोड़ जाऊंगा। इतना कह कर वह दोनों मेरे पिता को मोटरसाइकिल नंबर यूपी 90 आर 7902 में बिठाकर ले बबेरू गए।

शुक्रवार को दोपहर में पुलिस द्वारा सूचना सूचना दी गई कि आपके पिता की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई है। बबेरू पहुँचाने पर पता चला कि दरोगा उर्फ उदयवीर ने अपने साथी के साथ मिलकर मेरे पिता की हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंक दिया है ताकि घटना को दुर्घटना का रूप दिया जा सके। मृतक के पुत्र ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की। इसी मांग को लेकर परिजनों के साथ शव को बिजली पावर हाउस के सामने सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। कई घंटे तक जाम लगा रहा। बाद में क्षेत्राधिकारी नगर, व सिटी मजिस्टेट में पहुंचकर परिजनों को समझाया और मामले में कार्रवाई करने का आश्वासन दिया तब जाकर परिजन जाम हटाने को तैयार हुए।