डंफर से कुचलकर  दो सगी बहनों की मौत, जीजा घायल

बांदा,

जीजा के साथ गांव से बाइक मे सवार होकर बांदा आ रहीं दो बहनों की तेज रफ्तार डंफर से कुचलकर दर्दनाक ढंग से मौत हो गई, जबकि हादसे में बहनोई गंभीर रूप से घायल हो गया। हादसे की जानकारी से परिवार में हाहाकार मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल व्यक्ति को इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। वहां से चिकित्सकों ने उसे इलाज के लिए कानपुर रेफर कर दिया। पुलिस ने दोनों बहनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

घटना बीती रात मटौंध थाना क्षेत्र के भूरागढ़ बाईपास चैराहे मे हुई। हमीरपुर जिले के मौदहा थाना क्षेत्र के फत्तेपुर गांव निवासी अनामिका (16) पुत्री परशुराम लगभग 2 महीने पहले अपनी फुफेरी बहन करुणा (16) पुत्री लल्लू विश्वकर्मा के घर मनवारा थाना गौरिहार जिला छतरपुर (मध्यप्रदेश) गई हुई थी। गुरुवार को इनके रिश्तेदार बांदा शहर के मुक्तिधाम इलाके में रहने वाले देवकरण के बेटे का बरहो संस्कार था। इसमें शामिल होने के लिए किशोरी करुणा ने रिश्ते के जीजा बांदा के खुटला मुहल्ला निवासी सुनील (30) पुत्र कामता प्रसाद को फोन करके उनको भी आकर ले जाने को कहा। सुनील रात में किशोरी अनामिका और करुणा को बाइक से लेकर रात करीब साढ़े 9 बजे बांदा के लिए मनवारा गांव से चले। रास्ते में भूरागढ़ बाईपास चैराहे के पास पीछे से आ रहे तेज रफ्तार डंपर ने उनकी बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही उछलकर गिरीं दोनों बहनें डंफर के पहिये के नीचे आ गईं। दोनों की मौके पर ही दर्दनाक ढंग से मौत हो गई। वहीं घायल सुनील डंफर में फंसकर दूर तक घसीटते चले गए। गंभीर रूप से घायल सुनील को सूचना पर पहुंची पुलिस ने इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया।

वहां से चिकित्सकों ने गंभीर हालत में कानपुर रेफर कर दिया। मृतकों के रिश्तेदार वीरेंद्र विश्वकर्मा ने बताया है कि अनामिका ने कक्षा 8 तक पढ़ाई की थी। वहीं करुणा हाई स्कूल की पढ़ाई कर रही थी। दो बहनों में छोटी थी और उसकी बड़ी बहन की शादी सुनील के साथ हुई है।