पराली जलाने पर सम्बन्धित अधिकारी होंगे जिम्मेवारःडीएम


प्रमुख सचिव के निर्देशों पर अन्तर्विभागीय बैठक का हुआ आयोजन

ललितपुर,

 प्रमुख सचिव शासन द्वारा वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिये गए निर्देशों के सम्बंध में जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में अन्तर्विभागीय बैठक का आयोजन किया गया। बताया गया कि शासन द्वारा रिमोट सेसिंग से प्रत्येक जनपद की निगरानी की जा रही है, प्रदेश में कई जनपदों में किसान पराली जलाकर पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहे हैं, जिससे एयर क्वालिटी इन्डेक्स पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है, जनपद ललितपुर का एयर क्वालिटी इन्डेक्स भी सामान्य से बहुत अधिक है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि पंचायत सेवक, ग्राम पंचायत अधिकारी अपने क्षेत्रों के ग्रामों में जाकर किसानों को पराली न जलाये जाने हेतु अधिक से अधिक जागरुक करें, किसी भी तरह का कूड़ा-करकट न जलाये, बल्कि उससे कम्पोस्ट खाद बनायें। इसके अतिरिक्त सभी ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत सेवक अपने क्षेत्रों के सभी पात्र लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनवाना सुनिश्चित करें। साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि मिशन इन्द्रधनुष योजना के तहत सभी बच्चों का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें तथा दूरस्थ स्थानों में टीकाकरण पर विशेष ध्यान दिया जाये।

जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान अन्ना पशुओं की समस्या पर चर्चा करते हुए कहा कि जिन स्थानों आवारा पशु घूमते हुए पाये जायेंगे उस क्षेत्र के ग्राम प्रधान एवं शहरी क्षेत्र के अधिशासी अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी, साथ ही जो पशुपालक दूध निकालने के बाद पशुओं को छोड़ देते हैं उनके विरुद्ध पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्यवाही की जाएगी। इसी दौरान अवगत कराया गया कि 12 से 16 जनवरी 2020 तक प्रदेश की राजधानी लखनऊ में युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, इसमें जनपद के 15 से 35 वर्ष की आयु के बीच के प्रतिष्ठित व्यक्तियों की सूची शासन को भेजी जाएगी, जिन्हें युवा महोत्सव में जनपद ललितपुर का प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्राप्त होगा।

इस दौरान जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित समस्त अधिकारियों को अवगत कराया कि गौ-ग्रास योजना के तहत जनपद के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के प्रत्येक घर से गाय के लिए अग्रासन के रुप में रोटीध्चावलध्कच्ची सब्जियां एकत्र की जायेंगी। इस गौ-ग्रास को निकटवर्ती गौवंश आश्रय स्थल तक भेजा जाएगा, इससे सभी गौवंशों को पौष्टिक आहार प्राप्त हो सकेगा। आगामी 15 दिसम्बर 2019 को जनपद में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया है, जिसके तहत जिलाधिकारी ने जनपद के ग्रामीण एवं नगरीय निकायों को जिले स्तर पर 300 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराने के निर्देश दिये हैं।

बैठक में सीडीओ अनिल कुमार पाण्डेय, एडीएम अनिल कुमार मिश्र, अपर उप जिलाधिकारी रमेश चन्द्र, सीएमओ डा.प्रताप सिंह, डीडीओ इन्द्रमणि त्रिपाठी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा.एस.के. शाक्य, डीडी कृषि संतोष सविता, समस्त खण्ड विकास अधिकारी, समस्त ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत सचिव सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।