कलेवा के बाद विदा हुई भगवान श्रीराम की बारात

अनवर रज़ा रानू, बांदा

शहर के अयोध्यावासी मंदिर में तीन दिवसीय श्री सीता राम विवाह के अंतिम दिन कलेवा में भगवान राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न के स्वरूपों को छप्पन प्रकार के व्यंजन परोसे गए। इस दौरान महिलाओं ने मंगल गीत भी गाए और इसके बाद में विदाई की रस्म हुई।

विवाह पंचमी से शुरू हुए श्री सीताराम विवाह के पहले दिन मंडपाच्छादन, मातृ पूजन और रविवार को धूमधाम से भगवान श्री राम की बारात निकली, दोपहर बाद बारात मंदिर आई और यहां कमलेश कुमार गुप्त के परिजनों ने विवाह की रस्में पूरी कीं। इस अवसर पर अखिल भारतीय अयोध्यावासी वैश्य महासभा निदेशक संतोष कुमार गुप्ता, राज्य महिला आयोग सदस्य प्रभा गुप्ता, पूर्व चेयरमैन वैश्य राजकुमार राज व विनोद जैन, वंदना गुप्ता, रजत सेठ, अमित सेठ भोलू, सौरभ गुप्ता, शिवपूजन गुप्ता, राजकुमार, वृंदावन वैश्य, श्यामलाल गुप्ता आदि शामिल रहे। इसके बाद रात भर जयमाल, पैपुजी भांवरें व अन्य रस्में चलती रही।

सोमवार को बारात विदा होने से पहले भगवान राम व उनके भाईयों के  स्वरूपों को कलेवा छप्पन भोग परोसे गए। यह कार्यक्रम मंगलगीत एवम आरती पूजन के साथ संम्पन्न हुए। उपस्थित महिलाओं ने मंगलगान एवं अवधी भजनों के साथ नृत्य भी किया तथा प्रसाद वितरण भी किया गया। इस मौके पर सन्त कुमार, ज्वाला प्रसाद, कमलेशकुमार गुप्त, रामचन्द्र गुप्त बउआ, कालीचरण दुबे, विनोद ओमर, कल्लू प्रसाद गुप्त, शिवप्रसाद गुप्ता, सुशीला गुप्ता, आरती, रीता, दीपा, रागनी सोमानी, रागनी मसुरहा, मुन्नी गुप्ता सहित सैकड़ों भक्त उपस्थित रहे। अंत में विदाई की रस्म भी हुई, जिसमें कन्या पक्ष के लोगों के आंखों में आंसू भर आयें।