< आ गया कोहरा, फिर भी नौनिहालों को नहीं मिले स्वेटर Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बांदा,

बच्चों को ठंडी के लिए स्वे"/>

आ गया कोहरा, फिर भी नौनिहालों को नहीं मिले स्वेटर

बांदा,

बच्चों को ठंडी के लिए स्वेटर नहीं वितरण नही किए गए

जनपद में ठंड का मौसम आ गया है , लेकिन शिक्षा विभाग बेखबर हैैं।  प्राथमिक विद्यालय हो या पूर्व माध्यमिक विद्यालय वहां के बच्चे ठंड से ठिठुर रहे हैं। कोहरा भी पड़ने लगा है ,लेकिन अभी भी बच्चों को ठंडी के लिए स्वेटर नहीं वितरण नही किए गए हैं। फिर भी छोटे-छोटे बच्चे बिना स्वेटर के सुबह से स्कूल जाने के लिए मजबूर है।

शासन ने परिषदीय स्कूलों में सभी बच्चों को 31 अक्टूबर तक शत-प्रतिशत स्वेटर वितरण करने के निर्देश दिए थे। इसके लिए आपूर्तिकर्ता फर्म के लिए कई मानक भी तय किए थे। निर्धारित समय के बाद स्वेटर देने पर कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई थी। लेकिन करीब दो माह का समय  बीत गया, अभी तक नौनिहालों तक गर्म स्वेटर नहीं पहुंच सके। जबकि ठंड पूरी तरह दस्तक दे चुकी है। दिन में अंदर कक्षों में पढ़ाई करते समय हवा के ठंडे झोंके बच्चों को सताने लगे हैं। शासन के अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने 16 अगस्त को जारी पत्र में स्वेटर खरीद प्रक्रिया शीघ्र शुरू कर जिला स्तरीय टास्क फोर्स गठित करने के निर्देश दिए थे। शासन के आदेश पर परिषदीय स्कूलों में स्वेटर वितरण के लिए डीएम की अध्यक्षता में टीम तो गठित कर दी गई है, लेकिन टीम को ही जानकारी नहीं है कि स्वेटर वितरण अभी तक नहीं हुआ। सितंबर माह में स्कूली बच्चों को सवा तीन करोड़ रुपये प्रति बच्चा 200 रुपये की दर से धनराशि दी गई है।

लेकिन टेंडर में 162 रुपये प्रति स्वेटर की दर से नीलामी हुई। आपूर्ति कर्ता फर्म ने अभी तक स्वेटरों की आपूर्ति नहीं की।  ठंड बढ़ने पर छात्रों को पुराने स्वेटर में स्कूल आना पड़ रहा है। छात्र स्वेटर के लिए टकटकी लगाए हैं। लेकिन आपूर्ति कर्ता फर्म व जिम्मेदार अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं।कुछ अभिभावकों ने बताया कि जिस तरह से अब ठंडी पड़ने लगी है। कोहरा भी पड़ रहा है, लेकिन विद्यालय पर स्वेटर का वितरण नहीं किया गया हैं। जबकि स्वेटर का वितरण अक्टूबर माह पर हो जाना चाहिए था । बिना स्वेटर के बच्चे जा रहे हैं, जिसमें बच्चों को ठंडी भी लग सकती है। लेकिन अभी भी शिक्षा विभाग का जिला प्रशासन इस पर अभी ध्यान नहीं दे रहा है । इस सम्बन्ध में बीएसए हरिश्चंद्रनाथ ने बताया कि स्वेटर वितरण में फर्म की लापरवाही की वजह से विलंब हुआ है। स्वेटर आते ही बच्चों में वितरण कराया जाएगा।


 

अन्य खबर

चर्चित खबरें