< लघु व छोटे व्यापारी एंव श्रमिक पेंशन योजना का उठायें लाभ Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बांदा,

जिलाधिकारी हीरा लाल न"/>

लघु व छोटे व्यापारी एंव श्रमिक पेंशन योजना का उठायें लाभ

बांदा,

जिलाधिकारी हीरा लाल ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शुक्रवार को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना (पी.एम.एस.वाई.एम.) तथा राष्ट्रीय पेंशन योजना-ट्रेडर्स (एन.पी.एस.) की कार्यशाला मे दोनों योजनाओं की जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने लघु एवं छोटे व्यापारियों के लिए एक लाभदायी पेंशन योजना प्रारम्भ की है जिसमें आजीवन पेंशन दिये जाने का प्राविधान है। पेंशन की शर्तें व्यापारी की उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच हो और व्यापारी का सालाना करोबार 1.5 करोड के अन्दर हो। प्रीमियम 60 वर्ष की आयु तक देय होगी और व्यापारी को 60 वर्ष की आयु पूरी करने के पश्चात आज की मंहगाई दर से न्यूनतम 3000 रूपये मासिक पेंशन आजीवन मिलती रहेगी। उन्होंने कहा कि इस योजना का लाभ अधिक से अधिक व्यापारी नामांकन कराकर वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करें। व्यापारी किसी भी जन सेवा केन्द्र में जाकर बैंक पासबुक, आधार कार्ड व प्रथम किश्त नगद सहित नामंाकन कर सकता है।

जिलाधिकारी हीरा लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना में नामांकन इस योजना के उन असंगठित कर्मकारों पर लागू होंगे जो गृह आधारित कर्मकार, गली में फेरी लगाने वाले, सिर पर बोझा उठाने वाले, ईट भट्टा पर काम करने वाले, रिक्सा चालक आदि अन्य व्यवसायों में कार्य कर रहे हों। असंगठित क्षेत्रों के श्रमिकों के लिए और जनपद में जो श्रमिक है उनको भी इस योजना का लाभ दिया जा सके और  इसके लिए इसका ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार किया जाए। उन्होंने कहा कि इस योजना का विवरण लाभार्थियों की पात्रता एवं नामांकन की प्रक्रिया जन सुविधा केन्द्रों/सी.एस.सी., एल.आई.सी. एवं श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध होगा। लाभार्थी जिला श्रम कार्यालयों, केन्द्रीय श्रम कार्यालयों एवं राज्य कर्मचारी बीमा निगम के कार्यालयों पर स्थापित जन सुविधा केन्द्रों से सम्पर्क कर सकते हैं।

जिलाधिकारी ने कहा कि इस योजना में सम्मिलित होने के लिए केवल उस असंगठित कर्मकार के लिए खुली होगी जिसकी मासिक आय पन्द्रह हजार रूपये से अधिक आय न हो और जिसका बैंक में अपने नाम से बचत खाता के साथ आधार कार्ड संख्या हो और इस योजना में सम्मिलित होते हुए लाभार्थी की उम्र 18 वर्ष से कम तथा 40 वर्ष से अधिक न हो। उन्होंने कहा कि पेंशन प्राप्त करने के दौरान यदि किसी पात्र अभिदाता की मृत्यु हो जाती है तो उसका पत्नी, परिवार पेंशन के रूप में इस पात्र अभिदाता द्वारा प्राप्त की जाने वाली पेंशन का केवल 50 प्रतिशत परिवार पेंशन के रूप में प्राप्त करने का हकदार होगा और 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के पश्चात इस योजना के अधीन प्रत्येक अभिदाता की मासिक पेंशन 3000 रूपये होगी। कार्यक्रम का संचालन डिप्टी कमिश्नर लेबर राजीव कुमार सिंह, व्यापार मण्डल के सदस्य अमित सेठ भोलू, मनोज जैन, राजकुमार राजपूत सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें