< आधी अधूरी बनी गोशालाएं, किसान दे रहे पहरा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जालौन, 

जिले में अन्ना मवेशि"/>

आधी अधूरी बनी गोशालाएं, किसान दे रहे पहरा

जालौन, 

जिले में अन्ना मवेशियों की समस्या की मुख्य जड़ है आधी अधूरी गोशालाएं, जिन्हें शासन ने तो करीब साल भर पहले ही स्वीकृत कर दिया है लेकिन उनके निर्माण में हीलाहवाली का खामियाजा अब किसानों को भुगतना पड़ रहा है। 

किसानों का कहना है कि कदौरा, आटा, रामपुरा, माधौगढ़, एट, सरावन, कोंच, जालौन आदि स्थानों पर जगह जगह गोशालाएं बन तो रही हैं। मगर कब तैयार होंगी कोई बताने वाला नहीं है। जो गोशालाएं बनी भी है तो वहां चारे पानी के भरपूर इंतजाम न होने के कारण मवेशियों का ठिकाना नहीं बन पा रहा है। जिस कारण मवेशियों का झुंड हाईवे और खेतों पर नहीं अब तो ट्रेन की पटरियों तक नजर आने लगा है।

किसानों के लिए रात रात भर जागकर खेतों की रखवाली करना मजबूरी बना हुआ है। आटा और कदौरा की गोशालाओं में तो कई बार अधिकारी निरीक्षण भी कर चुके हैं, हर बार सिर्फ काम में तेजी लाने के निर्देश तो जरूर दिए जाते हैं लेकिन काम पूरा होता दिखता नहीं है। यही कारण खरीफ की फसल की तरह अब रबी की फसल में मवेशियों की भेंट चढ़ रही हैं।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें