विद्युत विभाग के अधिकारियों से किसान परेशान

@सुरेन्द्र सिंह राजपूत, टीकमगढ़ 

जिला टीकमगढ़ के विद्युत केंद्र खरगापुर के अन्तर्गत कई गांवों में आए दिन किसानों के विद्युत मोटर बिना किसी सूचना के उठा लिए जा रहे हैं जिससे किसानों को खेतो में पानी देने के लिए समस्यायों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ कांग्रेस की कमलनाथ सरकार किसानों को मीठे मीठे शब्दों में भाषण बाजी करके किसानों को शब्दों से खुश करने की कोशिश करती है। वहीं दूसरी ओर उनके अधिकारों किसानों की चोरी छुपे विद्युत मोटर उठा ले जाती है।

कुड़ीला हार में जहां पर किसान रामेश्वर लोधी अपनी जमीन को पानी देने के लिए घर से विद्युत मोटर नहर पर ले गया लेकिन उसे ये पता नहीं था कि सरकार बदल गई है सरकार के साथ नियम भी बदल गए है। जैसे ही विद्युत विभाग में यह भनक लगी कि किसानों ने अपनी मोटर चलाना शुरू कर दिया है। तभी विद्युत विभाग की टीम रामेश्वर लोधी की मोटर के पास आती है और मोटर को खोलने लगती हैं तभी वहां रामेश्वर लोधी की पत्नी आई और विद्युत विभाग के अधिकारियों से मोटर न ले जाने के लिए कहती है अधिकारी नही मानते हैं फिर महिला अधिकारी के पांव तक पकड़ने को कहती है अगले दिन पैसा भी भरने को कहती है।

इतने में विद्युत विभाग के बाबू द्वारा महिला को पुलिस का डर बताया जाता है कि पुलिस को बुला कर रिपोर्ट कर देगे, महिला कई बार हाथ जोड़कर निवेदन करती है, पांव पड़ती है, लेकिन अधिकारी को थोड़ी सी भी दया नहीं आई और मोटर लेके चले गये। पूरी एक दर्जन मोटरो को विद्युत द्वारा ले जाया जाता है और वहां किसानों से मोटी रकम वसूल कर मोटरो को बापिस कर दिया जाता है। अगर कांग्रेस सरकार में ऐसा ही चलता रहा तो किसानों आखिर किससे अपनी गुहार लगाएंगे।