< क्रेशर संचालन में एनजीटी नियमों का करें पालन: डीएम Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @राजकुमार याज्ञिक, 

क्रेशर संचालन में एनजीटी नियमों का करें पालन: डीएम

@राजकुमार याज्ञिक, चित्रकूट

अवर अभियंता से मांगी वाहनों की वसूली रिपोर्ट

जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में रिहायशी आबादी क्षेत्र एवं नेशनल हाइवे से कम दूरी पर स्थापित स्टोन क्रेशर के कार्य योजना से सम्बन्धित बैठक कैम्प कार्यालय में सम्पन्न हुई।

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रदेशों से क्रेशर संचालन के सम्बन्ध में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से जानकारी कर अवगत करायें। कहा कि जो एनजीटी की गाइड लाइन व सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के आधार पर प्लान बनाकर शासन को रिर्पोट भेजी जाये। संचालित क्रेशर मशीनों में प्रदूषण नियंत्रण का नियम लागू अवश्य हो। उसमें वाटर स्प्रिंकलर व्यवस्था, वाईब्रेटर स्प्रिंग को टीन शेड से कवर, कनवेटर बेल्ट, ग्रीन बेल्ट, प्रदूषण रोधी वृक्ष लगाकर ही संचालन किया जाये।

उन्होंने कहा कि नेशनल हाइवे पर 500 मीटर के अंदर व आवासीय क्षेत्र में एक हजार मीटर के अंदर जो क्रेशरें संचालित है उन पर सम्बन्धित अधिकारी कार्यवाही करें। अवर अभियंता जिला पंचायत को निर्देश दिये कि वाहनों से वसूली की जा रही है उसका शासनादेश दिखायें व अब तक कितनी धनराशि जमा हुई है और विभाग ने क्या कार्य कराया है। अपर जिलाधिकारी से कहा कि इसकी जांच करायी जाये कि शासनादेश के तहत जिला पंचायत द्वारा टेण्डर प्रक्रिया कर ठेका दिया गया है। जनता के स्वास्थ्य के लिए सचेत रहना है। यह बहुत जरूरी है। बिना मानक के कोई भी क्रेशर मशीनों का संचालन न किया जाये।

उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो भी बिना मानक के चलाते हुए पकड़ा जाये तो सम्बन्धित क्रेशर मालिक के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये। प्रशासन जनता के साथ कोई भी जनहानि के प्रति लापरवाही नहीं बरतेगा। मानक के अनुसार ही क्रेशरों का संचालन कराया जाये। स्टोन क्रेशर के संचालन से जनित डस्ट एवं वाहनों के आवागमन से जनित डस्ट के प्रभावी नियंत्रण कराना सुनिश्चित करें। इस मौके पर संबंधित अधिकारी, क्रेशर समिति के प्रतिनिधि आदि मौजूद रहे।

अन्य खबर

चर्चित खबरें