< मिट्टी के दीए बेचने वालों को नपा करेगी प्रोत्साहित Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News दतिया, 

दीपावली पर्व पर कुंभ"/>

मिट्टी के दीए बेचने वालों को नपा करेगी प्रोत्साहित

दतिया, 

दीपावली पर्व पर कुंभकार एवं जिले के ग्रामीणों द्वारा मिट्‌टी के दीपक बेचने पर नगरीय निकाय किसी तरह की कर वसूली नहीं कर पाएंगीं। उल्टा निकाय के अधिकारी आमजन को मिट्‌टी के दीपक उपयोग में लाने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।

यह आदेश सोमवार को कलेक्टर बीएस जामोद द्वारा जिले के एसडीएम, सभी तहसीलों के तहसीलदार और नगर पालिका व नगर परिषद सीएमओ को जारी किया है। कलेक्टर के इस आदेश से मिट्‌टी के दीपकों का चलन बढ़ेगा साथ ही कुंभकारों को भी फायदा होगा।
हर साल दीपावली पर कुंभकार समाज के लोग ही मिट्‌टी के दीपक बनाकर बेचते हैं। दीपावली के पांच दिन पहले से ही मिट्‌टी की बनीं ग्वालिन, लक्ष्मी जी की प्रतिमाएं और दीपक बाजार में बेचने के लिए आना शुरू हो जाते हैं। इनसे बाजार में रौनक आ जाती है साथ ही दीपावली का त्योहार भी त्यौहार के जैसा नजर आने लगता है।

कुंभकार दीपकों को कई तरह से डिजाइन करते हैं फिर उनकी रंग से रंगने के बाद अाग से पकाकर बाजार में बेचने के लिए आते हैं। पूरे बाजार में दीपक और ग्वालिन बेची जाती हैं। इसी से कुंभकारों का दीपावली का त्योहार अच्छा मनता है। वे अपने बच्चों को दीपक बेचकर आतिशबाजी, मिठाईयां, कपड़े व सामान खरीदकर ले जाते हैं। लेकिन विदेशी दीपकों के आ जाने से मिट्‌टी के दीपक का चालान साल दर साल कम होता जा रहा है। जिससे कुंभकारों के चेहरे पर मायूसी भी देखी जाने लगी थी। कलेक्टर ने मिट्टी के बने दीपकों को प्रोत्साहित करने के लिए सोमवार को कुंभकारों व आमजन के पक्ष में आदेश जारी किया।

अन्य खबर

चर्चित खबरें