भारतीय स्टेट बैंक शाखा पवई का एक और फर्जीवाडा

पन्ना,

किसान की पैसठ हजार की राशि खाता से गायब

वर्तमान समय मे स्टेट बैंक शाखा पवई लापरवाही, फर्जीवाडा तथा अनिमितताओ के लिए इन दिनो चर्चाओं मे है शाखा पवई मे पदस्थ अधिकारी कर्मचारीयों की लापरवाही तथा फर्जीवाडा से क्षेत्र के आम उपभोक्ता परेशान है। बैंक मैनेजर तथा फील्ड आफीसर द्वारा उपभोक्ताओ के साथ लगातार मनमानी तथा लापरवाही करते हुए दलालो के माध्यम से बैंक के उपभोक्ताओं के साथ फर्जीवाडा किया जा रहा है। अभी हाल ही मे बैंक के फील्ड आफीसर के द्वारा दो बेरोजगारो को 50-50 हजार का चूना लगाया गया और यह घटना क्रम बाहरी दलालो तथा फर्जी ट्रेडर्सो से मिलकर किया गया और इस संबंध मे आवेदको द्वारा जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित वरिष्ट अधिकारीयों को शिकायत भी की गई है।

अब इसके अलावा एक नया मामला प्रकाश मे आया है जिसमे आवेदक रामकुमार लोधी उम्र 45 वर्ष जिसका खाता भारतीय स्टैट बैंक पवई मे है खाता क्रमांक 20314138399 है उक्त खाता मे गरीब किसान ने विगत वर्ष 9 अगस्त 2019 को बैंक बाऊचर भर कर 65 हजार रूपये अपनी मेहनत एवं पशीना की कमाई से जोड कर जमा किये थें।

किसान के पास बकायदा बैंक का हस्ताक्षर एवं सील सहित बाउचर उपलब्ध है लेंकिन गत दिवस जब किसान बैंक अपनी राशि निकालने के लिए गया तो वह यह बात सुनकर बेहोशी की मुद्रा मे आ गया की तुम्हारे खाता मे राशि ही नही है तो किसान के द्वारा दूसरे दिन बाउचर एवं पास बुक लाकर इन्ट्री कराई गई लेकिन किसान के द्वारा जो 65 हजार रूपये की राशि 9 अगस्त 18 को जमा की गई थी।

उक्त राशि उसके खाता मे बैंक के संबंधित अधिकारी द्वारा जमा ही नही की गई। इस प्रकार से उक्त किसान के साथ धोखा धडी की गई। उक्त किसान मजदूर जब अपनी राशि के लिए बैंक प्रबंधक से संम्पर्क करता है तो उसे यह जवाब दिया गया की 49 हजार से अधिक की राशि बिना पैन नम्बर के जमा ही नही सकती जबकी पीडित के पास बकायदा बैंक का बाऊचर उपलब्ध है इस प्रकार भारतीय स्टैट बैंक पवई के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा लगातार आम उपभोक्ताओं के साथ धोखा धडी की जा रही है। आवेदक ने बैंक के वरिष्ट अधिकारियों तथा जिला कलेक्टर से जमा की गई राशि दिलाए जाने की मांग की है।