< दो हितग्राहीयों को लगाया एक लाख का चूना Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @आस्था गुप्ता,"/>

दो हितग्राहीयों को लगाया एक लाख का चूना

@आस्था गुप्ता, पन्ना  

स्टेट बैंक पवई के फील्ड आफीसर तथा फर्जी टैडर्स संचालको ने मिलकर बेरोजगारो के साथ की धोखा धड़ी गरीब, हितग्राही परेशान

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जहां एक ओर प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए जन कल्याणकारी योजनाए चलाई जा रही है जिससे आम गरीब पढे लिखे बेरोजगार खुद का रोजगार स्थापित कर आगे स्वलंबी बन सकें वहीं दूसरी ओर योजनाए क्रियान्यवन करने वाले अमले तथा बैंक अधिकारीयों की मिली भगत से उन्हे चूना लगाया जा रहा है इसी प्रकार का मामला जिले के पवई तहसील अन्तर्गत का प्रकाश मे आया है जहां पर दो बेरोजगारो को बैंक के फील्ड आफीसर ने स्थानीय फर्जी टैडर्सो से मिलकर कूट रचित दस्तावेजो के आधार पर 50-50 हजार रूपये का चूना लगा दिया है।

जानकारी के अनुसार पवई तहसील के ग्राम सिमरा खुर्द निवासी गणेश साहू पिता गोरे लाल साहू उम्र 28 वर्ष ने मुख्य मंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत ग्राम उद्योग हाथ करधा विभाग पन्ना मे फोटो कापी रिपेरिंग के लिए आवेदन दिया था तथा शासन द्वारा उसे 3 लाख रूपये का ऋण स्वीकृत किया गया था उक्त प्रकरण विभाग ने पवई स्टेट बैंक शाखा को भेज दिया गया था जिसमे आवेदक को बैंक द्वारा 1 लाख रूपये का लोन स्वीकृत किया था। 

उक्त लोन के लिए आवेदक ने कोटेशन स्थानीय विन्धया ट्रैडर्स का लगाया था बैंक द्वारा पहली किस्त मे 50 हजार रूपये की राशि संबंधी को प्रदान कर दी गई उक्त किस्त मिलने के बाद आवेदक द्वारा दूसरी किस्त नही ली गई तथा आवेदक ने उक्त लोन कें एकाउन्ट मे 17 हजार रूपये की राशि भी वापिस बैंक मे जमा कर दी तथा वह कुछ दिन बाद बाहर चला गया इसी दौरान बैंक के फील्ड आफीसर श्याम बाबू ने स्थानीय विन्ध्या टैडर्स से मिलकर 50 हजार की राशि फिर से जारी कर दी तथा उक्त राशि विन्ध्या टैडर्स एवं फील्ड आफीसर ने मिलकर हडप कर ली ।

इस संबंध मे जब आवेदक द्वारा बैंक मे संपर्क किया गया तो उससे बताया गया की तुम्हारी स्वीकृती ऋण राशि संबंधित टैडर्स के खाते मे डाल दी गई है। लेकिन उक्त राशि हितग्राही को उक्त ट्रडर्स द्वारा नही दी जा रही है इसी प्रकार एक अन्य हितग्राही सियाराम चौधरी निवासी हिनौता तहसील पवई को स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत 4 लाख रूपये की ऋण राशि स्वीकृत की गई जिसमे ढाई लाख रूपये किस्त बैंक द्वारा हितग्राही को जारी की गई उक्त राशि जय गुरूदेव मशीनरी स्टोर टैडर्स के नाम शटरिंग का कार्य करने के लिए जारी की गई थी।

हितग्राही ने बताया की उक्त टैडर्स के द्वारा मुझे दो लाख रूपये की राशि दी गई तथा 50 हजार रूपये की राशि नही दी जा रही है तथा उसके द्वारा कहा जा रहा है कि आप का 15 प्रतिशत के हिसाब से 30 हजार रूपये साहब को कमीशन दे दिया गया तथा 20 हजार रूपये जीएसटी मे जमा कर दिया गया जबकी आवेदक ने बताया की मेरे द्वारा पूर्व मे ही 10 हजार रूपये नगद कमीशन तथा 4 हजार 7 सौ रूपये स्टांप के लिए फील्ड आफीसर को दे दिया गया था लेकिन टैडर्स तथा फील्ड आफीसर को मुझ गरीब को 50 हजार की राशि नही दी जा रही है।

इस संबंध मे आवेदक द्वारा बैंक प्रबंधक पवई जिला कलेक्टर तथा सभंगीय कमिश्नर को भी शिकायत भेजी गई है लेकिन अभी तक उक्त बेरोजगारो की राशि संबंधितो द्वारा नही दी जा रही है इस संबंध मे संभागीय कमिश्नर ने जिला कलेक्टर को भी पत्र लिख कर आवेदको को भी राशि दिलाये जाने के निर्देश दिये थे कलेक्टर कार्यालय द्वारा मुख्य शाखा प्रबंधक स्टेट बैंक पन्ना को निर्देश दिये थे उसके बावजूद अभी तक न तो आवेदको की राशि वापिस की गई और न ही कोई कार्यवाही की गई है।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें