< नम आंखों से किया मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News महोबा, 

शारदीय नवरात्र पर जि"/>

नम आंखों से किया मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन

महोबा, 

शारदीय नवरात्र पर जिले में जगह-जगह देवी पंडालों में स्थापित दुर्गा प्रतिमाओं का मंगलवार को नम आंखों से बांध और तालाबों में विसर्जन किया गया। विसर्जन में भक्त अबीर गुलाल उड़ाते हुए ढोल-नगाड़ों की धुन पर नाचते झूमते रहे। दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान मां की आरती व जयकारों से माहौल गूंज उठा।

प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला दोपहर 12 बजे से शुरू होकर देर रात तक चलता रहा। विसर्जन में महिलाओं व युवतियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। मां के जयकारों के बीच जमकर अबीर गुलाल उड़ा। डीजे व ढोल नगाड़ों की धुन पर बज रहे भक्तिगीतों पर युवा खूब थिरके। विसर्जन जुलूस शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए ऐतिहासिक कीरत सागर तट पहुंचा। जहां एक-एक करके प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया।

इस दौरान भक्तों की आंखें नम हो गई। जिला प्रशासन की ओर से तालाब में आधा दर्जन से अधिक नावों की व्यवस्था कराई गई। साथ ही सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। शक्ति स्वरूपा मां दुर्गा महोत्सव समिति द्वारा नवदुर्गा समिति के पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया। इस मौके पर नगर पालिका ईओ लालचंद्र सरोज, सीओ सिटी जटाशंकर राव, कोतवाली प्रभारी विपिन कुमार त्रिवेदी, दाऊ तिवारी, रामजी गुप्ता आदि मौजूद रहे।

चरखारी प्रतिनिधि के अनुसार नगर में दो दर्जन से अधिक स्थानों पर विराजमान दुर्गा प्रतिमाओं का गाजे-बाजे के साथ बिहारी सागर तालाब में विसर्जन किया गया। आधा दर्जन मूर्तियां कोठी ताल मे विसर्जित की गई। विसर्जन के दौरान एडीएम रामसुरेश, एएसपी वीरेंद्र कुमार व्यवस्था का जायजा लेते रहे।

इस मौके पर एसडीएम राजेश यादव, कोतवाली प्रभारी अनूप कुमार दुबे, अधिशासी अधिकारी केके सोनकर, चेयरमैन मूलचंद्र अनुरागी सहित तमाम लोग मौजूद रहे। कुलपहाड़ प्रतिनिधि के अनुसार कस्बे में स्थापित दुर्गा प्रतिमाओं का बड़े तालाब में विसर्जन किया गया। थानाध्यक्ष राधे बाबू जवानों के साथ नाव में बैठकर तालाब में प्रतिमा विसर्जन कराते रहे। कबरई प्रतिनिधि के अनुसार कबरई में चार दर्जन से अधिक देवी प्रतिमाओं का बुधवार को धूमधाम से कबरई बांध में विसर्जन किया गया। मेन मार्केट में पहले इंद्रा नगर, किदवई नगर, विवेक नगर, राजेंद्र नगर सहित तमाम वार्डों की देवी प्रतिमाएं एकत्र हुई। फिर कबरई चौराहा, बघवा, बीजगोदाम, मोचीपुरा सहित बस्ती अंदर होते हुए विसर्जन जुलूस बैंड-बाजों के साथ निकला। रास्ते भर श्रद्धालु, युवा देवी भक्त रंग गुलाल उड़ाते हुए नाचते गाते चल रहे थे। जुलूस के दौरान चेयरमैन मूलचंद्र कुशवाहा, जनसेवक शिवपाल तिवारी, बल्लू महराज, केशव पाठक, पवन त्रिपाठी, रामनारायण गुरुदेव, इंद्रकांत त्रिपाठी आदि ने भव्य स्वागत किया।
 

अन्य खबर

चर्चित खबरें