मुख्य सड़क पर अवैध पार्किंग से लगा रहा घंटों जाम

दमोह, 

नगर में आबादी के साथ-साथ वाहनों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन यातायात व्यवस्था सुधारने को लेकर प्रशासन कोई प्रयास नहीं कर रहा है, शाम होते ही सड़क के दोनों ओर वाहन खड़े हो जाते हैं, जिससे आवागमन बाधित होता है। सबसे ज्यादा परेशानी बस स्टैंड की मुख्य सड़क के दोनों ओर अव्यवस्थित खड़े होने वाले ऑटो और अन्य बड़े वाहनों से होती है। जिससे बार-बार राेजाना जाम के हालात बनते हैं। नगरपालिका और एसडीएम कार्यालय की ओर से एक बार भी बाजार का अतिक्रमण नहीं हटाया गया। सड़कें अतिक्रमण में जकड़ी हुईं हैं और बची सड़क को दुकानदारों ने अपने कब्जे में ले लिया है।

नगर हटा में विकराल रूप धारण कर चुकी अतिक्रमण की समस्या को लेकर न पुलिस गंभीर है और न ही जिला प्रशासन। हैरानी की बात तो यह है कि नगर पालिका और पुलिस के अधिकारी तक इस समस्या से जूझ रहे हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं की जाती। नगर के सभी मुख्य मार्गों पर अव्यवस्थित भारी वाहन खड़े रहते हैं। जिससे कभी रास्ता जाम हो जाता तो कभी छुटपुट घटना घट जाती हैं।

इस दौरान छात्राओं ने बताया कि जब हम लोग स्कूल, काॅलेज जाते हैं तो रास्ते में खड़े भारी वाहनों से दुर्घटना हाेने की आशंका बनी रहती है। कई बार क्रासिंग के दौरान साइकिल इन वाहनों से टकरा जाती है। उन्होंने बताया कि हटा नगर भी दमोह के बाद दूसरे नंबर का नगर है, लेकिन यहां पर यातायात पुलिस की व्यवस्था अब तक क्यों नहीं की गई है।

ऐसे में प्रशासन सड़क पर खड़े होने वाले वाहनों के चालकों पर कार्रवाई करनी चाहिए। स्थानीय निवासी रूपलाल सिंह, बृजेश पटेल ने बताया कि नगर के मुख्य मार्ग दिनोंदिन संकीर्ण होते जा रहे हैं, बाजार में सड़कों पर बड़े-बडे़ दुकानदारों की सामग्री रखी रहती है, तो वहीं बाइक और भारी वाहन भी खड़े कर दिए जाते हैं। हाथ ठेला पर लगी दुकानें भी मार्ग को संकीर्ण कर रही हैं। अब इन मार्गों से पैदल निकलना भी दूभर हो गया है। बाजार से बजरिया मार्ग, मंदिर मस्जिद चौराहा से तिराहा, सोसायटी, एमएलबी स्कूल मार्ग भी रास्ते अब सकरे हो गए हैं। इन्ही मार्गो पर सारे दिन सबसे ज्यादा आवाजाही रहती है।