< गारंटी पीरियड में मटेरियल मुक्त हो गई कैंट की सड़कें Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News सागर, 

कैंट क्षेत्र से गुजरन"/>

गारंटी पीरियड में मटेरियल मुक्त हो गई कैंट की सड़कें

सागर, 

कैंट क्षेत्र से गुजरने वाली सड़कों पर हर साल निर्माण कार्य इसलिए लगे रहते हैं, क्योंकि यहां बनने वाली अधिकांश सड़कों का गारंटी पीरियड ही एक साल का हाेता है। ऐसे में ठेकेदार भी इसी के हिसाब से सड़क का निर्माण करता है कि किसी भी तरह से एक साल चल जाए। यही वजह है कि यहां बनने वाली सड़कें एक साल में ही गड्ढों में बदल जाती हैं और राहगीर परेशान हाेकर यह साेचते रहते हैं कि कुछ महीने पहले ही ताे यह सड़क बनी थी, अब इतने जल्दी खराब कैसे हाे गई।

बहरहाल कैंट के नियमों के चलते यहां हर साल सड़काें के निर्माण पर कराेड़ाें रुपए खर्च किए जाते हैं। जबकि हाेना यह चाहिए कि पीडब्ल्यूडी एवं नगर निगम की तर्ज पर कम से कम सभी सड़काें का गारंटी पीरियड 3 साल का ही रखा जाए, जिससे फिजूलखर्ची रुके और लाेगाें काे खराब सड़क से भी न गुजरना पड़े।

जल्दी शुरू होगा निर्माण जिन सड़काें का गारंटी पीरियड खत्म हाे गया हैं, वे सड़कें जल्दी ही बनाई जाएंगी। जिस सड़क का गारंटी पीरियड है, उसकी रिपेयरिंग संबंधित ठेकेदार से करवाई जाएगी। यह काम जल्दी ही लगेगा। कैंट क्षेत्र की अन्य जाे सड़कें बारिश में खराब हुई हैं, उनके सुधार के कार्य भी जल्दी ही लगवाए जाएंगे।

कैंट क्षेत्र की यह दाेनाें ही प्रमुख सड़कें इसलिए बेहद महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि यहां पर केवी-1, कॉन्वेंट सहित अन्य स्कूल स्थित हैं। एमआरसी सहित अन्य स्कूलों के लिए भी जाने के लिए भी राेजाना विद्यार्थी इन्हीं सड़काें से जाते हैं। राेजाना 5 हजार विद्यार्थी इन सड़काें से गुजरते हैं। कइयाें काे उनके अभिभावक छाेड़ने और लेने आते हैं।

इसके अलावा सदर क्षेत्र के लाेगाें काे कचहरी, विश्वविद्यालय, कलेक्टाेरेट, सिविल लाइन आदि जगह आने के लिए यह सबसे सुगम रास्ता है। राेजाना करीब 50 हजार लाेग इन गड्ढों भरी सड़काें से गुजरते हैं। ऐसे में इन सड़काें का सुधरना इन बच्चाें और लाेगाें के लिए किसी भी संभावित दुर्घटना से बचाने से लेकर इन गड्ढों से उड़ने वाली धूल से हाेने वाले स्वास्थ्य संबंधी नुकसान से बचाने के लिए भी महत्वपूर्ण है।

अन्य खबर

चर्चित खबरें