?> भुखमरी की कगार लोकतन्त्र सेनानी की विधवा, नहीं सुन रहा ज़िला प्रशासन बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ उत्तर प्रदेश में जहां एक तरफ योगी अदित्यनाथ सरकारी अ"/>

भुखमरी की कगार लोकतन्त्र सेनानी की विधवा, नहीं सुन रहा ज़िला प्रशासन

उत्तर प्रदेश में जहां एक तरफ योगी अदित्यनाथ सरकारी अफसरो से जनता दरबार लगा कर उनकी समस्याओं का निवारण करने का आदेश दे रहें है वही दूसरी ओर वराणसी में लोकतंत्र सेनानी की पत्नी आज भुखमरी की कगार पर है क्योकि जिला प्रशासन उसकी सुन नही रहा। पति के देहान्त के बाद महिला दर-दर भटक रही है। जिला प्रशासन को कई बार प्रर्थना पत्र देने के बाद भी प्रशासन की तरफ से कोई कार्यवाही नही की गयी।

महिला का नाम उर्मिला त्रिपाठी है। दरसल उर्मिला के पति लोकतन्त्र सेनानी थे जिनकी काफी समय पहले मौत हो चुकी है पति की मौत के बाद उर्मिला का कोई सहारा नही है। ऐसे में 2016 में आये नये अध्यादेश के अनुसार लोकतंत्र सेनानी की विधवा को सम्मान राशि देने का नियम पारित हुआ। जिससे उर्मिला को सहारा नजर आया मगर प्रशासन की लापरवाही और अनदेखी के चलते उर्मिला को आज तक कोई भी सहायता राशि प्राप्त नही हो सकी और दफतरो के चक्कर लगा के आज वह भुखमरी के कगार पर आ पहुँची है। कई बार प्रर्थना पत्र देने के बाद भी किसी प्रकार की कोई सुनावाई नही हुई।

इसी तरह सरकार द्वारा गरीबो के लिये चलाई जा रही योजनाओ से गरीब वंछित रह जाता है। इसमें सबसे बडी गलती प्रशासन की होती है। जो लोगो की गुहार को अनसुना कर देते है।