< गाँधी जयंती पर हुआ कवि सम्मेलन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News सागर,

हमने ये पैग"/>

गाँधी जयंती पर हुआ कवि सम्मेलन

सागर,

हमने ये पैगाम लिखा है बापू तेरे नाम लिखा है पहले जैसा नहीं है भारत हमने ये सरेआम लिखा है।

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में पी.आर.एस.वेलफेयर सोसायटी के तत्वावधान में कवि सम्मेलन का आयोजन वरिष्ठ कवि निर्मलचंद निर्मल के मुख्य आतिथ्य तथा गीतकार डॉ. श्याममनोहर सीरोठिया की अध्यक्षता व कवि साहित्यकार मणीकान्त चौबे के संचालन में सम्पन्न हुआ।

इस अवसर पर कवि पुष्प दंत हितकर ने फूटपरस्ती वालों से जब-जब पहचान हुई,देवीसिंह राजपूत ने बुंदेली में कौन की लगी की सें यारी,देवकी नंदन रावत ने हमने ये पैगाम बापू तेरे नाम लिखा है,आर. के.तिवारी ने सोचा सलाम करता चलूँ,रमेश दुबे ने मोंडा़ बोलो बाप से जानें हे परदेश,डॉ.चंचला दवे ने हे बापू तुम जन्मो भारत में फिर एक बार, के.एल.तिवारी अलबेला ने भ्रष्टाचार पर हाईकू बोलो बेताल, एस. आर. श्रीवास्तव भावुक ने तार-तार हो रहे बापू के संदेश, एड.राधा कृष्ण व्यास ने जब तक चंदा तारे रहेंगे अनुज मेरा हिन्दुस्तान रहेगा।

शिखरचंद शिखर ने कब तक डाल पे पंछी का बसेरा होगा, अमित आठिया ने आदमी रंग बदलकर दूसरों की जान लेता है, सुनीला सराफ ने कौन बचाये महिलाओं को शासन भी लाचार, अबरार अहमद ने नींद मेरे ख्वाबों की हो गई है आवारा, पूरनसिंह राजपूत ने हम गाँधीवादियों में जाति भेद है, मणीकान्त चौबे ने एक दिन बापू आये सपने में, निर्मलचंद जीनिर्मल ने आसमां के आचरण बदले हुए हैं, डॉ.श्याम मनोहर सीरोठिया ने पराधीन भारत के आंगन आजादी का दीप जलाया।

अंत में लोकविद् शिवरतन यादव ने गाँधी जी के प्रिय भजन वैष्णव जन को तेने कहिए जी का बुन्देली में गायन कर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। पी.आर.एस.वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष प्रदीप पाण्डेय ने आभार माना। इस अवसर पर उमा कान्त मिश्र, आशीष ज्योतिषी, एड.राजेश सराफ, एम.शरीफ, आदर्श दुबे, गोविन्द सरवैया, राहुल पाठक, नरेन्द्र मिश्रा, कल्लू पटैल, मनोज रायकवार, लक्ष्मीकांत गोस्वामी, अश्विनी बलैया आदि उपस्थित थे।

अन्य खबर

चर्चित खबरें