< जानलेवा जुगाड़ यहां जरा सी चूक जिंदगी पर भारी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News सागर, 

उफनते नाले के ऊपर लकड़"/>

जानलेवा जुगाड़ यहां जरा सी चूक जिंदगी पर भारी

सागर, 

उफनते नाले के ऊपर लकड़ी के नाजुक पुल से गुजरते बच्चों और महिलाओं की ये तस्वीरें किसी के भी रौंगटे खड़े करने के लिए काफी हैं। यहां जरा सी लापरवाही गंभीर हादसे का सबब बन सकती है। लेकिन, ये रहली ब्लॉक के तीन गांवों के लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा है।

बुन्देलखण्ड में लगातार बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में रास्ते बंद हो गए हैं। ऐसे में लोगों ने जुगाड़ से गांव के बीच स्थित नालों पर लकड़ी के पुल बना लिए हैं और इनके जरिए ही आवागमन कर रहे हैं।

उफनते नालों के ऊपर बनाए लकड़ी के पुल, इन्हीं से गुजरते हैं रहली ब्लॉक के तीन गांवों के सैकड़ों लोग जहूर खान, सलीम खान आदि ने बताया कि गांव के बीच में स्थित नाला भरने से रास्ता बंद हो जाता था। शासन से कई बार मांग के बावजूद यहां पुलिया नहीं बन पाई। सरपंच संगीता अहिरवार के पति ओमकार अहिरवार के मुताबिक जिस जगह पुल बना है, वह वन भूमि है। वनविभाग की मंजूरी के बिना इस नाले पर पुलिया नहीं बनाई जा सकती।

गांव के परसराम लोधी, रूपसिंह आदि ने खुद के खर्च पर लकड़ी का पुल बना लिया। बच्चे इसी पुल से स्कूल जाते हैं। सरपंच इंद्रपाल सिंह का कहना है कि पुलिया जल्द बनाई जाएगी। गांव के बीच कंजीघाट और मंजघटा घाट के ऊपर लकड़ी का पुल बनाया है। इसमें 10 हजार रुपए की लागत आई है।

अन्य खबर

चर्चित खबरें