< छोटे तालाब का जलस्तर बढ़ा तो काॅलोनियों में घुसा पानी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News सागर, 

बारिश की वजह से तीन बा"/>

छोटे तालाब का जलस्तर बढ़ा तो काॅलोनियों में घुसा पानी

सागर, 

बारिश की वजह से तीन बार जलमग्न हो चुके शहर की नगर निगम सुध लेने को तैयार ही नहीं है। भारी बारिश से नगर निगम की लापरवाही का खामियाजा तिली की कॉलोनियों के रहवासियों को भुगतान पड़ा। दरअसल, संजय ड्राइव पुल में फंसी जलकुंभी से छोटे तालाब का पानी बड़े तालाब में नहीं पहुंचा। जिससे तिली की अधिकांश कॉलोनियों में बाढ़ जैसे हालात बन गए।

देर शाम महापौर अभय दरे संजय ड्राइव पर पहुंचे और उन्होंने पुल में फंसी जलकुंभी को जेसीबी मशीन से हटवाया। तब जाकर स्थिति सामान्य हो सकी। रात से ही भारी बारिश की वजह से शहर की निचली बस्तियां जलमग्न हो गई थी, लेकिन सबसे ज्यादा परेशानी इस बार पॉश कालोनियों को हुई।

तिली के बालक कॉम्पलेक्स, तिरूअंतपुरम, किड्स अकादमी वाली गली, बसंत बिहार कॉलोनी आदि में पानी भर गया। सड़कें डूब गई। अफसरों को पता नहीं चला कि आखिर क्या हो रहा है। शाम के बाद स्थिति का पता चल पाया। यहां छोटे तालाब का जलस्तर लगातार बढ़ने और तालाब का पानी बड़े तालाब में न पहुंचने के कारण यह हालात बने। शाम 7 बजे के बाद से जलकुंभी को हटाना शुरू किया गया।

निगम के पास रखा हुआ है बजट

झील शुद्धिकरण के तहत नगर निगम के खजाने में करीब 2.69 करोड़ रुपए का बजट रखा हुआ है, लेकिन अभी तक मशीन की खरीदी नहीं हो पाई है। महापौर अभय दरे ने बताया कि मैंने शासन से मशीन खरीदी के लिए कई बार अनुमति मांगी, लेकिन मंजूरी नहीं मिली। सालभर से यह बजट निगम के पास रखा हुआ है। मशीन होने से जलकुंभी बढ़ने के पहले रही साफ हो जाती, लेकिन कार्रवाई शासन स्तर पर अटकी है।

अन्य खबर

चर्चित खबरें