< जनता मेरा चुनाव करे, जीवन जनता के लिए समर्पित कर दूंगी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @सौरभ चन्द्र द्विवेदी,&nbs"/>

जनता मेरा चुनाव करे, जीवन जनता के लिए समर्पित कर दूंगी

@सौरभ चन्द्र द्विवेदी, चित्रकूट 

कांग्रेस प्रत्याशी रंजना पांडेय जब गाँव पहुंचती है। तस्वीरें हालात बयां करने लगती हैं। विकास का पैमाना गाँव की गलियों में कीचड़ से सना हुआ दिखने लगता है। वो इस कीचड़ से दूर नहीं भागती बल्कि कीचड़ में कदम - कदम रखकर चल पड़ती हैं। कीचड़ से सने हुए पैर बताने के लिए काफी हैं कि विकास के फलस्वरूप अब तक मिला क्या ? हकीकत है कि नेताजी के कुर्ते की तरह कड़क , साफ और चमकती हुई सफेदी की तरह गांव की गलियां नहीं हैं। 

 

सारा तंत्र होने के बावजूद गांव मे गंदगी व्याप्त है। इस गंदगी की जवाबदेही कौन लेगा ? इन सवालों के साथ जनता से जवाब मांगती हैं कि एक अच्छी व्यवस्था के लिए घर की बहू - बेटी को अपना प्रेम लुटाकर चुनोगे ? जनता से उन्हें जवाब भी उसी मिलनसारिता से मिल जाता है। जिस मिलन भाव से वो महिलाओं और बुजुर्गों से मिल रही हैं। 

 

चुनाव लड़ने का अर्थ सिर्फ वोट प्राप्त कर लेना भर नहीं होता। चुनाव का अर्थ है कि जनता जागरूक हो जाए। चुनाव एक जागरूकता अभियान भी है। उनके पति बराती लाल पांडेय का कहना है कि  हम जनता को उनके अधिकार और कर्तव्य को याद दिलाते हैं। उन्हें बताने की कोशिश करते हैं कि जनप्रतिनिधि कैसा होना चाहिए ? 

 

एक अच्छा जनप्रतिनिधि वही होता है। जो जनता को सर्वसुलभ हो और कांग्रेस प्रत्याशी स्वयं को सर्वसुलभ बताती हैं। वे जनता के बीच जाकर कहती हैं कि मैं वो हूँ जिसके पास आप अपना हर दर्द बयां कर सकते हैं। विकास द्वारा एक अच्छे जीवन स्तर की यात्रा स्वयं जनता तय करेगी। गांव - गली की अच्छी तस्वीर बनाने के लिए जनता मेरा चुनाव करेगी तो मैं यह जीवन जनता के लिए समर्पित कर दूंगी।  

 

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें