< शिक्षकों ने मनाया सम्मान बचाओं दिवस Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @अनिल सिंह आवारा,

शिक्षकों ने मनाया सम्मान बचाओं दिवस

@अनिल सिंह आवारा, बांदा

बीएसए कार्यालय के सामने दिया धरना

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर उत्तर प्रदेश में आज 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के स्थान पर शिक्षकों द्वारा ”शिक्षक सम्मान बचाओ“ दिवस मनाते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय बांदा में जिला अध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी के नेतृत्व में धरना दिया गया।

धरने की शुरुआत सर्वपल्ली राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण करते हुए की गई। धरने पर शिक्षकों ने सरकार द्वारा विभिन्न समस्याओं के समाधान न करने पर आक्रोश व्यक्त किया। सरकार द्वारा विद्यालयों में पर्याप्त शिक्षक व संसाधन उपलब्ध न कराने के बावजूद शिक्षकों की निजता पर का हनन करने वाले ”प्रेरणा ऐप“ को जबरदस्ती थोपा जा रहा है शिक्षक प्रेरणा ऐप का विरोध नहीं कर रहे हैं अपितु उसके दुष्परिणामों का विरोध कर रहे है।

जिस दिन सभी संसाधन उपलब्ध करा दिए जाएंगे हम सभी ऐप का स्वागत करेंगे, कहा कि जनपद बांदा की स्थिति पर नजर डालें तो कुल 1396 प्राथमिक व 641 पूर्व माध्यमिक विद्यालय में कुल दो लाख पच्चीस हजार बच्चे अध्ययनरत है। जिनके सापेक्ष कुल लगभग चार हजार तीन सौ शिक्षक है, जबकि नियमानुसार लगभग साढे़ 6000 शिक्षकों की जरूरत है। संगठन की मांग के आधार पर जनपद में कुल लगभग 9000 शिक्षकों के की जरूरत है।

जनपद बांदा में लगभग 80 प्रतिशत विद्यालयों के बच्चे जमीन पर बैठते है। फर्नीचर की व्यवस्था नहीं है। लगभग 250 से अधिक विद्यालयों में बाउड्री नहीं है। लगभग 250 से अधिक विद्यालयों में या तो शौचालय नहीं है या ध्वस्त है। सैकड़ों की संख्या में ऐसे विद्यालय हैं जहां केवल एक शिक्षक ही कार्यरत है। शिक्षकों की भारी कमी के बाद भी शिक्षक विद्यालय सफाई, यूनिफाॅर्म, स्वेटर, खाना बनवाना, दवा बाटना जैसे काम के साथ-साथ शिक्षण कार्य भी कर रहे है। विद्यालयों के प्रधानाध्यापक के पद समाप्त हो रहे है। उसके बाद शिक्षकों पर अविश्वास करते हुए प्रेरणा जैसे ऐप दिए जा रहे है।
 

अन्य खबर

चर्चित खबरें