< स्कूल के बाहर नारेबाजी कर फूंका पुतला Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @राजकुमार याज्ञिक, चित्"/>

स्कूल के बाहर नारेबाजी कर फूंका पुतला

@राजकुमार याज्ञिक, चित्रकूट 

छुट्टी के दिन विद्यालय खुलने व अव्यवस्थाओं से आक्रोशित थे अभिभावक

सन्त रीता स्कूल के मनमानी संचालन सेे लोगो मे भारी आक्रोश रहा। कृष्ण जन्माष्टमी को सरकार ने अवकाश घोषित किया था, लेकिन विद्यालय बन्द नही किया गया। जिससे क्षुब्ध अभिभावकों ने स्कूल के गेट में एकत्र होकर जमकर नारेबाजी कर पुतला फूंका। भीड़ के आक्रोश को देखते स्कूल के प्रधानाध्यापक ने छुट्टी दे दी। मौके पर उप निरीक्षक दीपक यादव ने लोगों का गुस्सा शांत कराया।

अभिभावक ने स्कूल के प्रधानाध्यक और शिक्षकों पर गुणवत्तापरक शिक्षा न देने का आरोप लगाया। कहा कि बगैर जानकारी दिए हर वर्ष विद्यालय में फीस बढ़ाई जाती है। सही तरीके से मध्यान्ह भोजन भी नहीं दिया जाता। इस पर लोगो ने कई बार आवाज उठाई। तहसीलदार अजय कुमार कटियार ने मौके पर पहुँच कर विद्यालय के प्रधानाचार्य को दिशा निर्देश दिये थे।

मामले की जानकारी मिलने पर प्रदेश कार्यकरणी सदस्य आशीष कुमार और अंकित सिंह ने कहा कि किसी सूरत में छात्रों का शोषण बर्दास्त नही किया जाएगा। कहा कि हिन्दू धर्म के महापर्व जन्माष्टमी के अवसर पर सरकारी अवकाश पर ईसाई मसीनरी का संत रीता इंटर कॉलेज सरकारी आदेशो की खुलेआम अवमानना की है। छात्रों व अभिभावकों के न चाहने के बावजूद विद्यालय खोला गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारियों ने विद्यालय गेट के बाहर प्रदर्शन कर विद्यालय प्रशासन का पुतला दहन किया।

रोहन शुक्ला ने आरोप लगाते हुए बताया कि यह विद्यालय बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला निरीक्षण अधिकारी के संरक्षण में लगातार छात्रों व अभिभावकों का शोषण कर रहा है। इस पर कोई कार्यवाही नही की जा रही हैं। इस मौके पर नगर अध्यक्ष आनंद द्विवेदी, सतीश द्विवेदी, अधिवक्ता नारायण सिंह, विजयकिशोर, अंकित सिंह ठाकुर, नितिन सेठिया, अभिलाष केसरवानी, राहुल केसरवानी, सीटू मिश्रा सहित सैकड़ों लोग व अभिभावक मौजूद रहे।
 

अन्य खबर

चर्चित खबरें