< निर्माण कार्यों में गड़बडी देख भड़के डीएम Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @राजकुमार याज्ञिक, 

निर्माण कार्यों में गड़बडी देख भड़के डीएम

@राजकुमार याज्ञिक, चित्रकूट 

एफआईआर दर्ज करने के दिए निर्देष, मांगा स्पष्टीकरण

जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में 25 लाख से अधिक लागत की अन्य समस्त परियोजनाओं की निर्माण कार्यो के संबंध में कार्यदायी संस्थाओं के साथ  समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी में कड़ा रुख अपनाते हुए कार्यो में लापरवाही व शिथिलता पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। अनुपस्थित होने, भजन संध्या स्थल व अन्य सौंपे गए कार्यो में अनेक कमियां व संतोषजनक जवाब न मिलने पर पर्यटन अधिकारी शक्ति सिंह को स्पश्टीकरण मांगने के निर्देश देते हुए कहा कि भजन संध्या स्थल में महिला व पुरुष के लिए अलग-अलग शौचालय पेयजल व बैठने की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए।

उन्होंने लापरवाही पर पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव को  पत्र लिखने को भी चेताया। कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या सामने में आ रही है तो उससे अवगत कराया जाए। आवास विकास परिषद को दिए गए निर्माण कार्य के संबंध में उन्होंने  कहा कि जो भी बिल्डिंग बनाई जाए उसमें रूफ वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था अवश्य किया जाये। इसी प्रकार  सीएचसी, पीएचसी में  भी व्यवस्था हो। जिलाधिकारी ने मंडी परिषद के डायरेक्टर को जानकारी के बावजूद अनुपस्थित होने पर स्पष्टीकरण के निर्देश दिए और कहा है की पूरी डिटेल पूरी कार्य योजना अतिशीघ्र प्रस्तुत किया जाये। जिलाधिकारी ने उत्तर प्रदेश राज सेतु निगम लिमिटेड में चल रही निर्माणाधीन कार्य में संतोषजनक जवाब न मिलने पर एमडी को प्रमुख सचिव को पत्र लिखने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने राजकीय हाई स्कूल ददरी  में चल रहे निर्माण कार्य में कमियां मिलने पर पूरे निर्माण कार्य की  जांच जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी को एक कमेटी गठित कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कहा कि रिपार्ट जो भी लापरवाह पाए जाता है। ठेकेदार और सहायक अभियंता उस पर एफआईआर दर्ज कराई जाए। यह कमेटी उप जिलाधिकारी अधिशाषी अभियंता और प्रशासनिक अधिकारी की संयुक्त होगी। जिलाधिकारी ने निर्माण कार्य की समीक्षा में कब्रिस्तान और अंत्येष्टि  स्थल के निर्माण में गड़बड़ी मिलने पर प्रोजेक्ट डायरेक्टर और  ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने अस्थाई जल निगम बरगढ़ व मऊ ग्राम समूह जल परियोजना में अभी तक विद्युत कनेक्शन ना हो पाने पर सहायक अभियंता को स्पष्टीकरण और अधीक्षण अभियंता को प्रमुख सचिव को पत्र लिखने, अधिशासी अभियंता को निलंबन का पत्र लिखने के आदेश दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सड़को का गड्ढा मुक्ति कार्य की समीक्षा करते समय कहा कि किसी भी दशा में जनपद की कोई भी सड़क गड्ढा युक्त न रहे सड़क निर्माण में प्रयोग की जा रही निर्माण सामग्री में गुणवत्ता विशेष ध्यान दिया जाए और उसकी गुणवत्ता का जब तक परीक्षण ना हो जाए तब तक ठेकेदार को भुगतान न किया जाए। इसका थर्ड पार्टी से निरीक्षण कराया जाए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डा महेन्द्र कुमार, प्रभागीय वनाधिकारी कैलाश प्रकाश, मुख्य चिकित्साधिकारी डा राजेन्द्र सिंह, अर्थ एवं संख्याधिकारी सहित अन्य अधिकारी, अधिशाषी अभियंता मैजूद रहे।
 

अन्य खबर

चर्चित खबरें