< अन्ना मवेशियों को लेकर किसानों का आक्रोश फूटा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @जालौन 

सड़क से लेकर खेत तक आफत "/>

अन्ना मवेशियों को लेकर किसानों का आक्रोश फूटा

@जालौन 

सड़क से लेकर खेत तक आफत बरपाने वाले अन्ना मवेशियों को लेकर किसानों का आक्रोश फूट पड़ा। बड़ी संख्या में किसान व ग्रामीण छुट्टा जानवरों को हांक विकास खंड कार्यालय पहुंचे और परिसर में हांक दिया। जानवरों को परिसर में देख अफसर व कर्मी सन्न रह गए। वहीं नारेबाजी कर रहे किसानों के तेवर देख वह सहम गए। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और काफी देर तक समझाने का दौर चला। बाद में जानवरों को गोशाला में बंद करने का आश्वासन दिया गया, जिसके बाद हालात पर काबू पाया जा सका।

क्षेत्र में बीते कई दिनों अन्ना मवेशी 50 एकड़ से ज्यादा फसल चर चुके हैं। गुहार के बाद जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो उनके सब्र का बांध टूट पड़ा। बेसहारा जानवरों को हांकते हुए ग्रामीण व किसान विकास खंड कार्यालय पहुंचे, जहां परिसर में बंद कर दिया। किसानों व ग्रामीणों का कहना था कि आए दिन अन्ना मवेशी आफत बरपा रहे हैं। देखते ही देखते उनका झुंड फसल चट कर जाता है। परिसर में जानवरों को देख ब्लॉक में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। आनन फानन में इसकी सूचना जिले के अफसरों समेत पुलिस को दी गई। बीडीओ व इंस्पेक्टर मौके पर पहुंचे।

बीडीओ सुदामा शरण और इंस्पेक्टर बीएल यादव ने किसानों को समझाने का प्रयास किया। किसान ब्रजेश दीक्षित, देव सिंह, अतर सिंह, लाखन सिंह, दलवीर सिंह, नीतेश, बादाम ने फसल बचाने के लिए अन्ना मवेशियों की व्यवस्था के लिए कहा। बीडीओ ने आश्वासन दिया कि दो दिन में निस्तारण करा दिया जाएगा। गोरक्षक आशाराम प्रजापति की गोशाला में अन्ना मवेशी भेजे जाएंगे, जिसका खर्च सरकारी धन से दिया जाएगा। कराई मुनादी, छुट्टा छोड़ने पर होगी कार्रवाई। बीएल यादव ने गांव में मुनादी कराने का आदेश दिया और कहा, पशु पालक अपने मवेशी अन्ना छोड़ेंगे उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। आश्वासन मिलने के बाद किसानों ने ब्लॉक कार्यालय के फाटक को खोला और मवेशियों को बाहर निकालकर जंगल की ओर हांक दिया।

अन्य खबर

चर्चित खबरें