< बजट नहीं आया तो बीएमसी में फिर रुका अधूरे ऑडिटोरियम का निर्माण Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में तैयार हो रहे प्रदेश के सबसे आधुनिक व "/>

बजट नहीं आया तो बीएमसी में फिर रुका अधूरे ऑडिटोरियम का निर्माण

बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में तैयार हो रहे प्रदेश के सबसे आधुनिक व लग्जरी ऑडिटोरियम का निर्माण बजट के कारण दस साल में पांचवी बार अटक गया है। दरअसल यहां बिजली, कुर्सियां, सेंट्रल एसी, ईको और साउंड सिस्टम लगाने के लिए बीएमसी प्रबंधन ने शासन को 3.21 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेजा था। 

पिछले दिनों पीआईयू के अफसरों ने नए सिरे से ऑडिटोरियम का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा था। प्रस्ताव को शासन की वित्त समिति ने अप्रूव कर हरी झंडी दे दी है। लेकिन वित्त विभाग ने विधानसभा में मानसून सत्र चलने के कारण बजट जारी नहीं किया था। इस माह बजट जारी हो सकता है। इसके बाद ऑडिटोरियम की फिनिशिंग का काम शुरू हो पाएगा। 

Â3.58 करोड़ से होना था निर्माण, 10 साल 5 करोड़ से ज्यादा हुए खर्च : बीएमसी में ऑडिटोरियम का निर्माण कार्य 2009 में शु्रू हुआ था। इसे बनाने का जिम्मा हाउसिंग बोर्ड को सौंपा गया था। ऑडिटोरियम का निर्माण 3.58 करोड़ रुपए से किया जाना था, लेकिन निर्माण एजेंसी के अफसरों की लापरवाही के चलते 10 वर्ष बीतने के बाद भी यह बिल्डिंग बीएमसी को हैंडओवर नहीं हो सकी है। वहीं 3.58 करोड़ रुपए में होने वाले इस निर्माण पर 5.2 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च हो चुके हैं। इसके बाद भी शेष बचे हुए काम के लिए शासन से 3.21 करोड़ रुपए की मांग की गई है। 

Âशासन से चौथी बार मांगी गई राशि : ऑडिटोरियम के निर्माण के लिए शासन ने 3.58 करोड़ रुपए की मंजूरी दी थी, लेकिन निर्माण में लेटलतीफी के चलते लागत बढ़ गई। इस कारण लंबे समय तक काम बंद रहा। 2017 में दूसरी बार प्रबंधन ने शासन को प्रस्ताव भेजकर 1.62 करोड़ रुपए की मांग की, जिस पर शासन ने स्वीकृति दे दी। इसके बाद कुर्सियों व अन्य सुविधाओं के लिए 3.22 करोड़ रुपए का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया। जिसे शासन ने वापस भेज दिया। 

3.21 करोड़ रुपए में यह होंगे काम : बीएमसी में बनने वाला यह ऑडिटोरियम प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में सबसे आधुनिक और लग्जरी है। लेकिन अफसरों की लेटलतीफी के चलते अब तक यह तमगा बीएमसी से दूर है। शासन से मिलने वाले 3.21 करोड़ रुपए से ऑडिटोरियम के भीतर बिजली, सेंट्रल एसी, कुर्सियां, आधुनिक साउंड और ईको सिस्टम लगाया जाएगा। 

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें