< महिला हिसा से जुड़े अपराधों पर संवेदनशीलता से करें कार्रवाई Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News कई बार छेड़खानी, दुष्कर्म, घरेलू हिसा एवं उत्पीड़न से जुड़े प्रकरणो"/>

महिला हिसा से जुड़े अपराधों पर संवेदनशीलता से करें कार्रवाई

कई बार छेड़खानी, दुष्कर्म, घरेलू हिसा एवं उत्पीड़न से जुड़े प्रकरणों में विवेचकों की ओर से प्रभावी कार्रवाई नहीं की जाती है। इस वजह से पीड़िता को न्याय नहीं मिल पाता है और आरोपित बच जाते हैं। ऐसे में विवेचकों को मजबूत साक्ष्य जुटाने होंगे। अगर विवेचना में शिथिलता बरती गई तो एसओ तक की जबावदेही तय की जाएगी।

उक्त बातें पुलिस लाइन में हुई बैठक के दौरान एसपी ने मातहतों से कहीं। पुलिस लाइन में बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार ने सबसे पहले महिला हिसा से जुड़े अपराधों की समीक्षा की। छेड़खानी, दुष्कर्म, दहेज हत्या, दहेज उत्पीड़न, हत्या व आत्महत्या के मामलों में कमी नहीं आ रही है। विवेचकों की जिम्मेदारी है कि महिलाओं से जुड़े मामलों की विवेचना समयबद्ध तरीके से निस्तारित करें।

इससे आरोपितों में खौफ पैदा हो। साथ ही कोर्ट में भी मजबूत पैरवी की जाए। अगर किसी भी स्तर पर बेपरवाही बरती जाती है तो जिम्मेदारों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। महिला हिसा जुड़े मुकदमों के विवेचना की प्रगति आख्या भी विवेचकों से तलब की। बैठक में न आने उप निरीक्षकों को नोटिस देने का आदेश दिया गया है। बैठक के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. अवधेश सिंह भी मौजूद रहे।

अन्य खबर

चर्चित खबरें