?> घोटालेबाजी का अड्डा जिला पशु चिकित्सालय बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़

घोटालेबाजी का अड्डा जिला पशु चिकित्सालय

जिले में स्थित जिला पशु चिकित्सालय एक ऐसा आरामगाह बना हुआ है जिधर न तो डॉक्टर से मुलाकात होगी न ही किसी कर्मचारी से, अगर आप किसी जानवर के इलाज के लिए इधर जाते हैं तो इलाज तो नहीं होगा लेकिन हो सकता है अस्पताल की परिधि में ही आपको कोई और जानवर घायल मिल जाये जिसको आवारा कुत्ते और सुअर अपना भोज बनाते हुए मिल जाएंगे और वो जानवर आपके सामने ही प्राण त्याग देगा।

अस्पाल के डॉक्टर को फ़ोन किया जाए तो महाशय से बात ही नहीं हो पाती है वहीं गाँवों में होने वाले जानवरों के टीकाकरण में भी भारी घोटाला होता है।

आपको बता दें कि सरकार जहाँ एक तरफ गाय को माता कहती है और गौरक्षा के नाम पर देश मे इतना बड़ा मंच बना हुआ है और तमाम हिन्दू संगठन भी इससे बेहद परेशान हैं, वहीं आसपास के लोग बताते हैं कि अस्पताल में डॉक्टर के दर्शन बहुत दुर्लभ हैं और यहाँ आये दिन मरे हुए जानवरों की बदबू से लोगों को रहना मुश्किल है।

हमने इस बारे में मशहूर प्राणी सेवक डॉ पंकज दीक्षित जी से जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि जिले में पशुओं की हालत बेहद गम्भीर है और इनका रवैया बेहद लचर है इसलिए दोषियों के ऊपर कठोर से कठोर कार्यवाही होनी चाहिए।

आखिर कब तक सरकार के मंसूबों पर इन अफसरशाहों के द्वारा पानी फेरा जाता रहेगा।

अमृत शुक्ला की ग्राउंड रिपोर्ट