< नेता प्रतिपक्ष के करीबी ग्राम सचिव का लाखों का घोटाला Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News नगर की समीप की ग्राम पंचायत ऊमरा में सचिव, रोजगार सहायक और "/>

नेता प्रतिपक्ष के करीबी ग्राम सचिव का लाखों का घोटाला

 

नगर की समीप की ग्राम पंचायत ऊमरा में सचिव, रोजगार सहायक और सरपंच की मिली भगत से लाखों के घोटाले उजागर हो रहे हैं और गांव के लोग मूलभूत सुविधाएं ना होने से परेशान हो रहे है प्रत्येक मंगलवार को होने वाली जनसुनवाई भी आजतक गांव में नही हुई है। इस गांव के सरपंच लालसिंह गौड़ और रोजगार सहायक रवि सेन है। मुख्य रूप से यहाँ के ग्राम सचिव राकेश शुक्ला है। जिनका दबदबा यहाँ चलता है क्योंकि ये महाशय खुद को नेता प्रतिपक्ष पं गोपाल भार्गव का खास होने का दावा करते रहते है चूंकि यहाँ आदिवासी सरपंच लाल सिंह गौड़ अनपढ़ है इसलिए पंचायत के सभी कार्य और पैसे निकालने का काम सचिव और रोजगार सहायक ही देखते है।

लाखों रूपये की सडक पंचायत के रिकार्ड में तो बन गई लेकिन असलियत में वहां कुछ भी काम नहीं हुआ है। गांव में एक भी नदी और नाला नहीं है लेकिन ग्राम पंचायत द्वारा लाखों रुपये से पुलिया निर्माण करवाया गया है और लगभग दस लाख का भुगतान गोपाल जी कंस्ट्रक्शन के नाम पर किया गया है। पीने के पानी की पाइप लाइन तो डल गई लेकिन पंचायत द्वारा पानी के लिए कोई उचित साधन तैयार नहीं किया गया है।

यहाँ के लोग बरसात के मौसम में भी गांव के बाहर जाकर पानी भरने को मजबूर हैै। पंचायत के पोर्टल पर कल्लू लोहार के घर से अजुद्दी चढार के घर तक सीसी सडक का निर्माण हो चुका है और ग्राम पंचायत के पोर्टल पर बाकायदा इसकी एक फोटो भी डाल दी गई है और एक लाख पाँच हजार रूपये निकाल लिये गए, लेकिन असलियत मे वहां एक रूपये का काम नही हुआ है।

प्रत्येक मंगलवार को शासन के निर्देशानुसार ग्राम पंचायत में लोगों की समस्याओं के निराकरण के लिए जन सुनवाई होना तय है लेकिन एक साल के लम्बे समय से यहाँ कोई जनसुनवाई नहीं हुई है। यह बात सरपंच लाल सिंह गौड ने खुद बताई है। ग्राम पंचायत के पंच हेमराज लोधी ,कल्लू लुहार, सौरभ सेन, बल्लू सिंह लोधी और गोविन्द द्वारा बताया गया कि जबसे ग्राम पंचायत का निर्माण हुआ है यहाँ आज तक जनसुनवाई नहीं हुई है। हम सब ग्रामवासी अपनी समस्याए किसे सुनाये।

गांव वालो का कहना है कि जल्द ही ग्राम सचिव राकेश शुक्ला और रोजगार सहायक पर उचित कार्यवाही और गांव में पीने की समस्या को जल्द ही दूर नही किया गया तो जल्द ही गांव वालो द्वारा सागर कलेक्टर परिसर में धरना प्रदर्शन किया जायेगा। वही ग्राम सचिव राकेश शुक्ला का कहना है कि मैं दस माह से ऊमरा नही गया हूँ और नहीं हुई तो क्या में जनता के पांव पकड लू। मेने अपने पैसे से आंगनवाड़ी भवन का निर्माण करवाया था और जनपद द्वारा मेरा भुगतान नहीं किया गया इसलिए मैने सीसी सडक के पैसे निकाल लिये। गांव के सरपंच लाल सिंह गौड का कहना है कि मै अनपढ गंवार आदमी हूँ मैं इस सब के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है सचिव काम करवाने के नाम पर मुझसे हस्ताक्षर करवा लेते है।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें