< नारी गरिमा को अक्षुण्ण बनाए रखने की ली गई शपथ Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News नारी गरिमा के साझा संकल्प ‘अपराजिता: 100 मिलियन स्"/>

नारी गरिमा को अक्षुण्ण बनाए रखने की ली गई शपथ

नारी गरिमा के साझा संकल्प ‘अपराजिता: 100 मिलियन स्माइल्स’ के तहत कार्यशाला आयोजित की गई, जिसमें महिलाओं के लिए संचालित आशा ज्योति केंद्र के विषय में जानकारी दी गई। बताया गया कि ये सेवा चौबीसों घंटे महिलाओं की सहायता के लिए तत्पर है।

इसकी मदद लेने के लिए फोन (181) भर करना होता है। इस दौरान नारी गरिमा को अक्षुण्ण बनाए रखने की शपथ भी ली गई। रानी महल के पास स्थित डाटाटेक कंप्यूटर सेंटर में आयोजित कार्यशाला में आशा ज्योति केंद्र की मनोवैज्ञानिक / परामर्शदाता शोभलता कुमारी ने बताया कि आशा ज्योति केंद्र चौबीसों घंटे महिलाओं की सहायता के लिए तत्पर है।

ये महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में स्थित है। कोई महिला मदद मांगने के लिए यदि केंद्र तक नहीं आ सकती है, तो टोल फ्री नंबर 181 पर भी सूचना दे सकती है। केंद्र के लोग मय पुलिस के महिला के पास पहुंचेंगे।

जरूरी नहीं कि केवल अपने लिए ही मदद मांगी जाए, बल्कि आपके आसपास भी कोई महिला पीड़ित है, तो उसकी भी सूचना टोल फ्री नंबर पर दी जा सकती है। इस दौरान बच्चों के हैल्पलाइन नंबर 1098, वुमंस पावर लाइन 1090 व डायल 100 की भी जानकारी दी गई।

कार्यक्रम में आशा ज्योति केंद्र की रामसखी, गुड्डन देवी समेत संस्थान के डायरेक्टर विकास पांडेय, स्वाति भारद्वाज, स्नेहा खान, साहिबा, नेहा, निकिता, सुरेंद्र आदि मौजूद रहे। महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार की ओर से कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में महिलाएं इनका इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं। इनके ज्यादा से ज्यादा प्रचार की आवश्यकता है।


 

अन्य खबर

चर्चित खबरें