< आईना : बच्चा गटर में गिरा , माँ रो रही है , प्रदर्शनकारी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार किया !  Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News सरकार की जीवन रक्षा प्रणाली की बेहतरीन योजना हेल्मेट लगाओ जीवन "/>

आईना : बच्चा गटर में गिरा , माँ रो रही है , प्रदर्शनकारी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार किया ! 

सरकार की जीवन रक्षा प्रणाली की बेहतरीन योजना हेल्मेट लगाओ जीवन बचाओ और ना लगाओ तो चालान कटवाओ। बेशक देश के विभिन्न भूभाग में बच्चे कभी बोरवेल में गिरते हैं तो कभी गटर में गिर जाते हैं, बस जनता हेल्मेट लगाए वरना सरकार को पैसे दो।

 

अब जो बच्चा गटर में गिर गया। नगरपालिका की मशीनरी उसे सोलह घंटे से खोज नहीं पाई। संभवतः बच्चे के बचने की उम्मीद नहीं है। इतने समय में बच्चे का शव मिल जाए यही पर्याप्त कहा जा सकता है। 

 

जन जानकारी और मीडिया खबर के अनुसार तीन साल से गटर खुला पड़ा था जो अब संभवतः सीलपैक हो जाएगा, फिर कोई नामुराद सील तोड़ देगा। नगरपालिका के अधिकारी सील करना चाहते नहीं थे वरना तीन साल से बच्चे की मौत पर गटर चर्चा मे आता ? 

 

भारत भाग्य विधाता में गटर में बच्चे मर रहे हैं और सरकार जीवन रक्षा प्रणाली के लिए आम आदमी का चालान काटने को तैयार रहती है। बच्चे की माँ रो रही है और प्रदर्शनकारी पिता को पुलिस ने धर दबोचा है। 

 

अबे प्रदर्शन क्यों करते हो ? सरकार थोड़ी ना दोषी है। वो तो बच्चे की गलती है जो गटर में जा गिरा। सरकार का कभी कोई दोष नहीं होता है। सरकारी कर्मचारी सफाई पेशकर बच जाएगा। सब बच जाएंगे पर मरा है एक मासूम। 

 

इन मासूमों की मौत कोई ना कोई बहाने से होती रहती है और मिनिस्टर से लेकर अफसर तक दलील देते रहते हैं। बस कुछ नहीं हो सकता तो बोरवेल पर बच्चों का गिरना , गटर पर बच्चों का गिरना नहीं बंद हो सकता। खैर यह ऐसी मौत है जिसकी चीख पुकार मची हुई है।  वरना सरकार तो ऐसे मार देती है कि चीख भी नहीं निकलती और आदमी मर जाता है फिर बच्चे क्या हैं ? यह व्यंग्य नहीं आईना है।  

 

About the Reporter

  • सौरभ चन्द्र द्विवेदी

    समाचार विश्लेषक के रूप में बुन्देलखण्ड के मुद्दों पर पैनी नजर रखने में माहिर हैं सौरभ द्विवेदी। विगत 10 वर्षों से भी अधिक समय से पत्रकारिता से जुड़े रहकर समाज व राजनीति पर सैकड़ों लेख लिखे और विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित भी हुए।, स्नातक

अन्य खबर

चर्चित खबरें