झमाझम बारिश से मोहल्लों में भारी जलभराव

दोपहर से शुरू हुई झमाझम बारिश ने जहां लोगों को उमस से राहत प्रदान की तो तमाम लोगों के लिए मुसीबत भी बन गई। बारिश के चलते शहर के कई मोहल्लों में भारी जलभराव हो गया। गलियों में पानी भरा होने से आवागमन प्रभावित हुआ। लोग घुटने तक पानी से होकर घर तक पहुंच सके। कई दुकानों में भी बारिश का पानी जा घुसा जिससे दुकानदारों को सामान सुरक्षित करना मुश्किल पड़ गया।

इस बार मानसून देर से आया है। कभी बारिश हो जाती है तो दूसरे दिन धूप निकल आती है। शुक्रवार को भी उमस रही लेकिन दोपहर बाद आसमान पर काले घने बादल छा गए और झमाझम बारिश होने लगी। रूक रुककर शाम तक बरसात होने से उमस से तो राहत मिल गई लेकिन बहुत से लोगों को परेशानी का सामना भी करना पड़ा।

कई मोहल्लों में भारी जलभराव हो गया। मोहल्ला राजेंद्र, सूचना विभाग वाली गली, शांति नगर, लहरियापुरवा, चुर्खी रोड किनारे नया पटेल नगर की बहुत सी गलियां उफनाई हुई थीं। कई गलियों को देखकर लग रहा था कि कोई छोटी मोटी नहर बह रही है। जलभराव के चलते आवागमन प्रभावित हुआ।

लोगों को घुटनों तक पानी से होकर घर तक पहुंचना पड़ा। शहर के नवविकसित मोहल्ला इंदिरा नगर में भी कई स्थानों पर भारी जलभराव हुआ। इतना ही नहीं शहीद भगत सिंह चौराहा, घंटाघर, गांधी बाजार में कई दुकानों में पानी घुस गया।

कड़ी मशक्कत करने के बाद दुकानदार अपना सामान सुरक्षित कर सके। बारिश ने नगरपालिका की सफाई व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी। शाम को कुछ पानी धीमा हो गया था लेकिन लगातार बारिश होने के आसार बने हुए थे। अगर रात में बारिश होती है तो जलभराव अधिक हो सकता है।