< रैपुरा रेन्ज से काटी गई अवैध सागोन लकडी के आरोपी गिरफ्तार Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News दमोह जिले ले जाई जा रही थी लकडी : बघवार के स्"/>

रैपुरा रेन्ज से काटी गई अवैध सागोन लकडी के आरोपी गिरफ्तार

दमोह जिले ले जाई जा रही थी लकडी : बघवार के स्थानीय वन अमले द्वारा रात्रि को सूचना प्राप्त हुई कि सगौनी बीट में कुछ व्यक्ति जंगल में घुस कर लकड़ी काट रहे है और वे लगातार फायरिंग कर रहे है। परिक्षेत्र अधिकारी रैपुरा ने प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये तत्काल थाना रैपुरा स्टाफ व वन अमले के साथ मौके पर पहुॅचे व सर्चिंग की गयी।

जहॉ पर बीजा की लकड़ी के ठूॅठ व ट्रेक्टर के पहिये के निशान पाये गये जिनका पीछा किया गया। परन्तु दुर्गम रास्ता एवं अंधेरा अधिक होने के कारण अपराधी नही मिले। पुनः सुबह जाकर जॉच कार्यवाही की गयी व सूक्ष्म जॉच व मुखबिर से जानकारी प्राप्त हुई कि उक्त काटी गयी लकड़ी दमोह जिला के महुआड़ॉड गयी है।

सम्पूर्ण प्रकरण की जानकारी से श्रीमती मीना कुमारी मिश्रा, वन मण्डलाधिकारी दक्षिण पन्ना को अवगत कराया व आगे की कार्यवाही हेतु मार्गदर्शन प्राप्त किया। वन परिक्षेत्राधिकारी मोहन्द्रा से सम्पर्क कर उनके स्टाफ के साथ दुर्गम मार्ग व वर्षा होने के बाबजूद विषम स्थिति, में छिपाई गयी लकड़ी व ट्रेक्टर के समीप पहुॅचे जहॉ पर ट्रेक्टर ट्राली में बीजा की लकड़ी के गोंद के निशान मिले।

वैध कटाई में लिप्त अपराधी प्रकाश पटेल व भारत आदिवासी से पूछतॉछ की जा रही थी। तभी कुछ दूर स्थित प्रकाश पटेल की झोपड़ी में आरोपियों द्वारा आग लगा दी गयी, जिससे जप्ती की कार्यवाही न हो सके व वन अमले को झूठे केश में फसाया जा सके।

जिसकी सूचना दूरभाष के माध्यम से वन मण्डलाधिकारी दक्षिण पन्ना एवं थाना प्रभारी थाना पटेरा को दी गयी, व थाना जाकर लिखित रिर्पोट थाना पटेरा में दर्ज कराई गयी। वन परिक्षेत्र व वन अमले तथा पुलिस बल के साथ पुनः जप्ती स्थल पर गये जहॉ से आरोपियों द्वारा ट्रेक्टर वहॉ से भगा कर ले जाया गया था व लकड़ी को भी छिपाने की कोशिस में थे।

पुलिस वल व वन अमला अधिक मात्रा में पहुॅच जाने से भय वश जप्त शुदा लकड़ी को छिपा नही सके। व जप्ती की कार्यवाही की गयी। ऐसी सूचना प्राप्त हुई कि जप्त शुदा लकड़ी लेने व स्टाफ से झगड़ा करने के उद्वेश्य से ग्रामवासी रोड़ पर संगठित हो रहे है।

वन परिक्षेत्राधिकारी द्वारा सूझ बूझ से काम लेते हुये स्टाफ व जप्त शुदा सामग्री को बेलखेड़ी, हिनोती एवं कुम्हारी के रास्ते से रैपुरा सकुशल आ सके। उक्त प्रकरण में लिप्त आरोपियों में से कुछ को पहचाना जा चुका है जिन्हे शीघ्र गिरफ्तार किया जावेगा।

कार्यवाही में पुलिस थाना पटेरा, वनमण्डल दमोह, परिक्षेत्राधिकारी मोहन्द्रा व स्टाफ शामिल रहे। परिक्षेत्राधिकारी देवेश गौतम के साथ गोकुल सिंह, उप वनक्षेत्रपाल धीरेन्द्र प्रताप सिंह, वनरक्षक रजनीश चौरसिया, वनरक्षक राकेश खरे, वनरक्षक कु. प्रियंका शर्मा, वनरक्षक प्रेमशंकर सिंह ठाकुर, वनरक्षक सूर्यप्रताप सिंह, वनरक्षक व अन्य परिक्षेत्र स्टाफ व कार्यरत सुरक्षा श्रमिकों की अति महत्वपूर्ण भूमिका रही।

 

अन्य खबर

चर्चित खबरें